मप्र: 2.37 लाख अध्यापकों का शिक्षा विभाग में संविलियन, शिक्षकों ने किया CM का सम्‍मान

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान की अध्यक्षता में हुई मंत्रिमंडल की बैठक में राज्य के 2,37000 अध्यापकों का शिक्षा विभाग में संविलियन करने का निर्णय लिया गया. 

मप्र: 2.37 लाख अध्यापकों का शिक्षा विभाग में संविलियन, शिक्षकों ने किया CM का सम्‍मान
फाइल फोटो

भोपाल: मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान की अध्यक्षता में मंगलवार को हुई मंत्रिमंडल की बैठक में राज्य के 2,37000 अध्यापकों का शिक्षा विभाग में संविलियन करने का निर्णय लिया गया. इन सभी को एक जुलाई से सातवें वेतनमान का लाभ देने की भी मंजूरी दे दी गई. 

आधिकारिक तौर पर मिली जानकारी के अनुसार, राज्य में 2,37000 अध्यापक पंचायत और नगर निकाय के अधीन आते हैं. इन अध्यापकों की लंबे अरसे से मांग थी कि उनका शिक्षा विभाग में संविलियन किया जाए, जिसे सरकार ने मंगलवार को स्वीकार कर लिया. 

आधिकारिक जानकारी के अनुसार, इन अध्यापकों का शिक्षा विभाग में संविलियन किए जाने के साथ ही इन्हें सातवें वेतनमान का लाभ भी मिलेगा. यह लाभ एक जुलाई, 2018 से दिया जाएगा. इसके अलावा संविदा कर्मचारियों को सेवा से अलग नहीं किया जाएगा.

MP: 'कड़कनाथ' के बाद 'बासमती चावल' को पेटेंट कराएगी शिवराज सरकार

अध्यापकों ने सीएम शिवराज सिंह चौहान के इस फैसले का स्‍वागत करते हुए उनका सम्मान किया. मंत्रालय में अध्यापक संघ के पदाधिकारी पहुंचे. अध्यापकों को नियमित किये जाने और शासकीय कर्मचारी बनाये जाने का सीएम शिवराज के निर्णय का स्वागत किया. अध्यापक ने कहा कि इस निर्णय का सीएम शिवराज को विधानसभा चुनाव में लाभ मिलेगा और हम लाभ दिलाएंगे.