मध्य प्रदेश: बाघ की खाल, मूंछ के बाल और तेंदुए की हड्डी के साथ 4 आरोपी गिरफ्तार

वन अधिकारियों को खबर मिली थी कि रुखड़ रेंज के ग्राम पोतलइ में रहने वाले हेमचंद भलावी के घर पर बाघ की खाल रखी है और उसे वह बेचने की फिराक में है.

मध्य प्रदेश: बाघ की खाल, मूंछ के बाल और तेंदुए की हड्डी के साथ 4 आरोपी गिरफ्तार
प्रतीकात्मक तस्वीर

सिवनी: मध्य प्रदेश के सिवनी दक्षिण के वन मंडल के अमले ने बाघ की खाल के मामले में तीन लोगों को और तेंदुए की खाल के मामले में एक आरोपी को गिरफ्तार कर उनके पास से बाघ की खाल, मूंछ के बाल पंजे और तेंदुए की हड्डियां और पूछ को जप्त किया है. यह लोग जादू टोना के उपयोग के लिए वन्य प्राणियों का शिकार करते थे. 

वन अधिकारियों को खबर मिली थी कि रुखड़ रेंज के ग्राम पोतलइ में रहने वाले हेमचंद भलावी के घर पर बाघ की खाल रखी है और उसे वह बेचने की फिराक में है. रात ही में टीम बनाकर वन अमले ने हेमचंद को सूचना दी कि कोई व्यापारी बाघ की खाल खरीदना चाहता है. हेमचंद्र खाल और हड्डियों को बोरे में लेकर निकल गया जिसके बाद घेराबंदी कर उसे रंगे हाथ पकड़ लिया गया. 

पूछताछ में यह बात सामने आई कि हेमचंद ने बाघ का शिकार किया था और उसकी निशानदेही पर पुतलई गांव में रहने वाले दीप सिंह भलावी और चिकला गांव निवासी तेजलाल वादिव को वन अमले ने हिरासत में लिया और एक खाल जो लगभग 1 माह पुरानी है को जप्त किया. इसके बाद एसटीएफ की डॉग टीम बुलाई गई और डॉग स्क्वाड टीम ने पेज टाइगर रिजर्व की कुंभा पानी में जिस बाघ को करंट से मारा गया था उस मामले का नया खुलासा करते हुए बताया कि आरोपियों ने बाघ को मार्कर उसके मुख्य अंगो को निकाल कर दफना कर दिया था. 

इसके बाद एटीएस की टीम ने पेंच टाइगर रिजर्व के कुंभा पानी गांव में नाले के पास गड्ढे में खोतकर दफनाए गया बाग के अवशेष को निकालते हुए बाघ की हड्डियां को जप्त किया है. वन विभाग विभाग की इस मामले में अभी संयुक्त कार्रवाई जारी है.