कमलनाथ सरकार में जमकर घोटाले हुए, जांच कराकर दोषियों को भेजेंगे जेल: कृषि मंत्री

कृषि मंत्री कमल पटेल ने कहा कि तत्कालीन कमलनाथ सरकार ने 10 दिन के अंदर 48 लाख किसानों का कर्जा माफ करने का ऐलान किया था. लेकिन सवा साल गुजरने के बाद भी किसानों की कर्ज माफी नहीं हो सकी. 

कमलनाथ सरकार में जमकर घोटाले हुए, जांच कराकर दोषियों को भेजेंगे जेल: कृषि मंत्री
मध्य प्रदेश के कृषि मंत्री कमल पटेल.

भोपाल: मध्य प्रदेश की शिवराज सरकार में कृषि मंत्री कमल पटेल ने कहा है कि पूर्ववर्ती कमलनाथ सरकार में जमकर घोटाले हुए हैं.सबकी जांच कराएंगे. उन्होंने कहा कि कमलनाथ के शासनकाल में हुए घोटालों की जांच कराकर उन्हें जेल भेजेंगे.

कमलनाथ सरकार ने सिर्फ ऐलान किया, कर्जा माफ नहीं हुआ
कृषि मंत्री ने कहा कि जिम्मेदार अफसरों को भी जेल भेजेंगे. घोटाला करने वाले बिचौलिये भी जेल जाएंगे. कृषि मंत्री कमल पटेल ने कहा कि तत्कालीन कमलनाथ सरकार ने 10 दिन के अंदर 48 लाख किसानों का कर्जा माफ करने का ऐलान किया था. लेकिन सवा साल गुजरने के बाद भी किसानों की कर्ज माफी नहीं हो सकी.

कमलनाथ सरकार में मंत्री रहीं विजयलक्ष्मी साधौ ने CM शिवराज को बताया 'पनौती बाबा'

उन्होंने आरोप लगाया कि कमलनाथ की सरकार ने कई जगह पर किसानों को कर्जमाफी के प्रमाण पत्र बांट दिए गए, लेकिन आज तक उनका कर्ज माफ नहीं हुआ. कमल पटेल ने किसानों से मांगी की कि वे इस धोखाधड़ी को लेकर पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ समेत कांग्रेस नेताओं के खिलाफ थानों में रिपोर्ट दर्ज कराएं.

कांग्रेस नेता पीसी शर्मा ने कृषि मंत्री के आरोपों का दिया जवाब
मध्य प्रदेश के कृषि मंत्री कमल पटेल के पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ समेत कांग्रेस नेताओं के खिलाफ धोखाधड़ी के मामले दर्ज कराने के बयान पर कांग्रेस भड़क उठी है. कमलना​थ की सरकार में जनसंपर्क मंत्री रहे पीसी शर्मा ने कहा कि पूर्व सरकार ने कैबिनेट में कर्जमाफी के प्रस्ताव पर मुहर लगाई थी और सरकार गिरने से पहले किसानों के कर्ज माफी की प्रक्रिया को शुरू किया गया था.

छत्तीसगढ़ में हर साल 25 मई को मनेगा 'झीरम श्रद्धांजलि दिवस', जानिए इसका कारण

पीसी शर्मा ने कहा कि कमलनाथ की तत्कालीन सरकार ने किसान कर्ज माफी के अगले चरण की तारीखों का भी ऐलान कर दिया था. ऐसे में नई सरकार की जिम्मेदारी है कि पूर्व सरकार के कैबिनेट में हुए फैसले पर अमल करे और किसानों के कर्ज माफी की प्रक्रिया को आगे बढ़ाए. यदि ऐसा नहीं होता है तो कांग्रेस इसका सड़कों पर उतरकर विरोध करेगी.

WATCH LIVE TV