close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

मध्य प्रदेशः BJYM ने सड़कों पर लगाए पोस्टर- 'सावधान! यहां कमलनाथ सरकार है'

जिले में बीते 9 माह में हुए 602 हादसे में 74 लोग अपनी जान गंवा चुके हैं. दो दिन पहले ही सड़क हादसे में 4 राष्ट्रीय स्तर के हॉकी प्लेयर अपनी जान गंवा चुके हैं, लेकिन इन सब के बीच दोनों ही पार्टियों के कार्यकर्ता राजनीतिक रोटी सेंकने में कोई कसर नही छोड़ रहे हैं.

मध्य प्रदेशः BJYM ने सड़कों पर लगाए पोस्टर- 'सावधान! यहां कमलनाथ सरकार है'

पीतांबर जोशी/होशंगाबादः मध्य प्रदेश में बीते कई दिनों से सड़कों पर हुए गड्ढों पर सियासत जारी है. होशंगाबाद में भी युवा मोर्चा कार्यकर्ताओं की ओर से जिला कांग्रेस कमेटी के सामने पोस्टर लगाकर सियासी गलियारों में एक नई हवा दे दी है. इन पोस्टरों की राजनीतिक गलियारों में जमकर चर्चा हो रही है. आपको बता दें कि जिले में बारिश के बाद से ही सड़कों के हाल बेहाल हो चुके हैं. सड़कों के बीच बड़े-बड़े गहरे गड्ढे हो गए हैं, जिसके चलते आए  दिन लोग हादसे में अपनी जान गवा रहे हैं. 

जिले में बीते 9 माह में हुए 602 हादसे में 74 लोग अपनी जान गंवा चुके हैं. दो दिन पहले ही सड़क हादसे में 4 राष्ट्रीय स्तर के हॉकी प्लेयर अपनी जान गंवा चुके हैं, लेकिन इन सब के बीच दोनों ही पार्टियों के कार्यकर्ता राजनीतिक रोटी सेंकने में कोई कसर नही छोड़ रहे हैं. स्टेट हाईवे पर बने तवा ब्रिज की हालत बेहद खराब है. बारिश के बाद से ही ब्रिज पर सैकड़ों छोटे-बड़े गड्ढे हो गए हैं. ब्रिज की मरम्मत को लेकर युवा मोर्चा कार्यकर्ताओं ने तवा ब्रिज पर गड्ढे की सुरक्षा के लिए रखे ड्रम पर प्रदेश के मुख्यमंत्री कमलनाथ का पोस्टर लगाया है. जिस पर लिखा हुआ है. सावधान यहां कमलनाथ सरकार है. 

देखें LIVE TV

वहीं BJYM जिलाध्यक्ष प्रांशु राने ने पोस्टर के सवाल का जबाव देते हुए कहा कि, 'सत्ता में होने के बाद भी बैनर लगाकर भ्रष्टाचार की जानकारी देना बड़ी हास्यास्पद बात है. उन्होंने कहा की सरकार उनकी है. वो किसी भी तरह की जांच करा सकती है. बीते 15 सालों में जितनी सड़कें शिवराज सिंह और बीजेपी के शासनकाल में बनी है. इतनी सड़कें मध्य प्रदेश के इतिहास में कभी नहीं बनी थीं.'

अपने बयान से गोपाल भार्गव का यू-टर्न, 'विधायकों की अभी संख्या नहीं, जिससे सरकार बदल सके'

उन्होंने बताया कि, 'बीते दो माह से कलेक्टर को तवा ब्रिज की मरम्मत के लिए अर्जी दी हुई है, लेकिन अधिकारियों ने इस ओर बिल्कुल ध्यान नहीं दिया. जिसके चलते पोस्टर लगाकर लोगों का सावधान किया है कि यह कमलनाथ की सरकार है. कमलनाथ ओर कांग्रेस के कार्यकर्ताओं को आत्मचिंतन की आवश्यकता है. सत्ता में होने के बाद जनता के हित के कोई काम नहीं कर पा रहे हैं तो आप खुद सोचिए की आप सरकार चला रहे हैं या सर्कस.'