कोरोना संकट में शिवराज मंत्रिमंडल का गठन, आज 2 सिंधिया समर्थक सहित ये 5 मंत्री लेंगे शपथ

मध्य प्रदेश की राजनीति को समझने वाले बताते हैं कि छोटे मंत्रिमंडल के जरिए समाज और अंचल को साधने की कोशिश की गई है.

कोरोना संकट में शिवराज मंत्रिमंडल का गठन, आज 2 सिंधिया समर्थक सहित ये 5 मंत्री लेंगे शपथ
फाइल फोटो

हरीश दिवाकर/भोपाल: कोरोना संकट के बीच मुख्यमंत्री और अधिकारियों के भरोसे चल रहे मध्य प्रदेश में 21 अप्रैल यानी मंगलवार को मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान के मंत्रिमंडल का गठन होगा. 5 मंत्रियों को शपथ दिलाई जाएगी, जिनमें दो मंत्री सिंधिया खेमे के भी हैं. दोपहर करीब 12 बजे मंत्रियों का शपथ ग्रहण होगा. राजभवन की ओर से इसकी पुष्टि कर दी गई है.

शिवराज चौहान के मंत्रिमंडल में भाजपा के वरिष्ठ और कद्दावर नेता नरोत्तम मिश्रा शामिल होंगे. भाजपा सरकार में पहले भी मंत्री रह चुके कमल पटेल का नाम शामिल है. जबकि पहली बार मीना सिंह को मंत्री पद दिया जाएगा. कमलनाथ सरकार को गिराने में अहम भूमिका निभाने वाले सिंधिया समर्थक गोविंद सिंह राजपूत और तुलसी सिलावट को भी मंत्रिमंडल में जगह दी जाएगी.

मंत्रिमंडल छोटा लेकिन  समाज और अंचल को साधने की कोशिश
मध्य प्रदेश की राजनीति को समझने वाले बताते हैं कि छोटे मंत्रिमंडल के जरिए समाज और अंचल को साधने की कोशिश की गई है. सिंधिया खेमे से आने वाले गोविंद सिंह राजपूत के जरिए बुंदेलखंड और ठाकुरों को साधने का प्रयास है. जबकि कद्दावर नेता और पूर्व मंत्री नरोत्तम मिश्रा से ग्वालियर-चंबल और ब्राह्मण वर्ग को साधने की. नर्मदापुरम से कमल पटेल OBC चेहरा हैं और मालवा से कमलनाथ सरकार में भी मंत्री रहे तुलसी सिलावट SC वर्ग का चेहरा. विंध्य क्षेत्र से अनुसूचित जनजाति वर्ग के मीना सिंह को मंत्री बनाया जाएगा.

अकेले सरकार चला रहे शिवराज
शिवराज सिंह चौहान 23 मार्च को मुख्यमंत्री पद की शपथ लेने के बाद से अकेले सरकार चला रहे हैं. ऐसे में एमपी में बिना मंत्रिमंडल की चल रही सरकार को लेकर विपक्ष भी हमलावर है. यहां तक कि कांग्रेस के राज्यसभा सांसद विवेक तन्खा ने राष्ट्रपति को चिट्ठी लिखकर प्रदेश में राष्ट्रपति शासन लगाने की मांग भी कर डाली थी.