close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

मध्य प्रदेशः सरकार के निशाने पर BJP और RSS के करीबी अफसर, बनाई जा रही है लिस्ट

इस लिस्ट में सरकारी महकमों के उन अफसरों का नाम शामिल किया जाएगा, जो कि अपना काम करने में अक्षम हैं या किसी राजनीतिक दल से करीबी संबंध होने के चलते बड़े पदों पर नियुक्त किए गए हैं.

मध्य प्रदेशः सरकार के निशाने पर BJP और RSS के करीबी अफसर, बनाई जा रही है लिस्ट
मुख्यमंत्री कमलनाथ के आदेश पर ऐसे अफसरों की तलाश शुरू कर दी गई है जिनका किसी भी राजनीतिक दल से संंबंध है. (फाइल फोटो)

भोपालः मध्य प्रदेश की कांग्रेस सरकार ने अब ऐसे अफसरों पर शिकंजा कसने की तैयारी शुरू कर दी है, जो कि भारतीय जनता पार्टी या आरएसएस के करीबी हैं, या फिर इनका किसी भी राजनीतिक दल से संबंध है. कांग्रेस ने मुख्यमंत्री कमलनाथ के निर्देश पर ऐसे अफसरों की लिस्ट बनाना भी शुरू कर दिया है. इस लिस्ट में सरकारी महकमों के उन अफसरों का नाम शामिल किया जाएगा, जो कि अपना काम करने में अक्षम हैं या किसी राजनीतिक दल से करीबी संबंध होने के चलते बड़े पदों पर नियुक्त किए गए हैं.

पंचायत एवं ग्रामीण विकास मंत्री कमलेश्वर पटेल ने इस बारे में जानकारी देते हुए बताया कि मुख्यमंत्री कमलनाथ के आदेश पर ऐसे अफसरों की तलाश शुरू कर दी गई है जो किसी राजनीतिक भावना से काम कर रहे हैं, या फिर जिनका किसी राजनीतिक दलों से संबंध है. हर जिले और हर विभाग में ऐसे अफसरों की तलाश शुरू की जा चुकी है. इन अफसरों पर अक्षमता के पैमाने पर कार्रवाई होगी. ये ऐसे अफसर हैं जो BJP या RSS के करीबी अफसर हैं.

हमने कल्पना नहीं की थी कि राहुल गांधी इस्तीफा देंगे, कांग्रेस को नया अध्यक्ष खोजना होगा: सिंधिया

पंचायत एवं ग्रामीण विकास मंत्री कमलेश्वर पटेल ने कहा कि अफसरों को भी समझना चाहिए कि वे राजनीतिक भावना से काम नहीं करें. बीजेपी ने कई अहम पदों पर ऐसे अफसरों को बैठाया है. यदि वह अफसर राज्य शासन की जांच में अक्षम साबित हुआ तो उसे हटा दिया जाएगा. सरकार की इस कवायद को बीजेपी और आरएसएस से जुड़े अफसरों पर टारगेट समझा जा रहा है.

निजी क्षेत्र में युवाओं की नौकरी सुनिश्चित करने के लिए 70 फीसदी आरक्षण का कानून लाएगी MP सरकार

वहीं बीजेपी ने इस मामले पर प्रदेश की कांग्रेस सरकार पर करारा प्रहार किया है. बीजेपी प्रवक्ता रजनीश अग्रवाल ने कहा कि केंद्रीय कानून का फायदा उठाकर यदि राजनीतिक दुर्भावना से किसी भी तरह का गलत काम किया गया उस सरकार की ईंट से ईंट बजा दी जाएगी.