MP: राहुल गांधी बोले- 'मैं सिर्फ 'चौकीदार' कहता हूं, जनता अपने आप 'चोर' चिल्लाने लगती है'

 'आज दुनिया कच्चे तेल की कीमतें आधी हो गई है. लेकिन, चौकीदार फिर भी देश के लोगों से पेट्रोल-डीजल के ज्यादा पैसे वसूल रहा है. देश के किसानों को सबसे ज्यादा डर कर्ज से लगता है. वो समय पर कर्ज नहीं चुका पाते, तो उनको जेल हो जाती है.'

MP: राहुल गांधी बोले- 'मैं सिर्फ 'चौकीदार' कहता हूं, जनता अपने आप 'चोर' चिल्लाने लगती है'
कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी (फोटो साभारः @INCIndia)

नई दिल्लीः कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने मंगलवार को फिर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर निशाना साधा है. जहां उन्होंने कहा कि नोटबंदी में कौन सा चोर बैंक की लाइन में खड़ा दिखाई दिया. नोटबंदी और जी एस टी ने कई फैक्ट्रियां बन्द कराईं. बेरोजगारी बढ़ी. मोदी ने कालेधन के खिलाफ लड़ाई की बात बोलकर नोटबंदी में किसानों, युवाओं, माताओं-बहनों को लाइन में लगा दिया. उस लाइन में अनिल अंबानी जैसा एक भी चोर नहीं था. भाजपा वालों को "चौकीदार" बोलने पर आपत्ति है. क्योंकि, जैसे ही मैं "चौकीदार" बोलता हूं, जनता की आवाजज आती है "चोर है."

उन्होंने आगे कहा कि 'आज दुनिया कच्चे तेल की कीमतें आधी हो गई है. लेकिन, चौकीदार फिर भी देश के लोगों से पेट्रोल-डीजल के ज्यादा पैसे वसूल रहा है. देश के किसानों को सबसे ज्यादा डर कर्ज से लगता है. वो समय पर कर्ज नहीं चुका पाते, तो उनको जेल हो जाती है. जबकि उन अमीर लोगों के साथ ऐसा नहीं होता, वो खुले घूमते हैं. हमने फैसला किया कि हमारी सरकार आने पर किसानों को जेल नहीं होगी. 2019 के आम चुनाव के बाद नया कानून बनेगा कोई भी किसान कर्ज ना चुका पाने के कारण जेल नही जाएगा. आधा से ज्यादा चुनाव खत्म हो चुका है. मोदी जी हार रहे हैं. आप उनका चेहरा देख लीजिए, वो डरे हुए हैं, उनका चेहरा सिकुड़ा हुआ है. कांग्रेस पार्टी ये चुनाव जीत रही है.'

'चौकीदार चोर है' पर सुप्रीम कोर्ट की फटकार के बाद राहुल गांधी ने मांगी माफी...

मुख्यमंत्री कमलनाथ का भाषण 
वहीं मुख्यमंत्री कमलनाथ ने कहा कि 120 दिन पहले बेरोजगारी महंगाई बलात्कार वाले नंबर एक प्रदेश हमे सौंप हमने राहुल जी के आदेश का पालन करते हुए किसानो का कर्ज माफ किया. 21 लाख किसानों का कर्जा माफ किया. मोदी शिवराज चिल्ला रहे हैं कि कर्ज माफ नहीं हुआ. मुझे उनके प्रमाण पत्र की जरूरत नहीं है. जैसे ही आचार सहिंता हटती है हर किसान का कर्ज माफ हो जाएगा. हमने बिजली का बिल आधा किया, पेंशन 300 से 600 की आगे 1000 करेंगे, शादियों के 51 हजार दिए, 27 फीसदी आरक्षण पिछड़ी जातियों को दिया जाएगा.

BJP पर गुस्सा निकालने में दलित नेता उदित राज ने लांघी सारी मर्यादाएं, राष्ट्रपति कोविंद की नियुक्ति पर उठाए सवाल

हमारे लिए सबसे बड़ी चुनौती नोजवानों के भविष्य की है. प्रदेश में 15 सालों में जितने उद्योग लगे नहीं उतने बंद हुए. 5 साल पहले क्या देश असुरक्षित था. जितने हमले भाजपा के शासनकाल में हुए, उतने कभी नहीं हुए. इसके साथ ही मुख्यमंत्री कमलनाथ ने दमोह में मेडिकल कॉलेज खुलने की भी घोषणा की है.