MP: कोरोना वायरस के चलते कर संग्रह में आई कमी, नए बजट में सरकार करेगी कटौती

राज्य सरकार के आंकड़ों के मु्ताबिक 31 मार्च 2021 तक राज्य सरकार को ‌वाणिज्यिक कर, पंजीयन एवं मुद्रांक, आबकारी समेत अन्य विभागों से 60 हजार करोड़ रुपए राजस्व इकट्ठा होने का अनुमान था.

MP: कोरोना वायरस के चलते कर संग्रह में आई कमी, नए बजट में सरकार करेगी कटौती
सांकेतिक तस्वीर

भोपाल: कोरोना वायरस के चलते मध्य प्रदेश सरकार ने कर संग्रह में 15 हजार करोड़ रुपए की कमी होने का अनुमान जताया है. इसकी वजह से राज्य सरकार 2020-21 का बजट 2 लाख करोड़ रुपए ही रखेगी. खर्चों को कम किया जा सके इसलिए सरकार इस बजट में अनुपयोगी योजनाएं में कटौती करेगी. इस संबंध में संबंधित ब्यूरोक्रेट्स से भी राय ली जा रही है.

CM भूपेश बघेल ने PM मोदी को लिखा पत्र, इस योजना को 3 महीने बढ़ाने के लिए किया आग्रह

राज्य सरकार के आंकड़ों के मु्ताबिक 31 मार्च 2021 तक राज्य सरकार को ‌वाणिज्यिक कर, पंजीयन एवं मुद्रांक, आबकारी समेत अन्य विभागों से 60 हजार करोड़ रुपए राजस्व इकट्ठा होने का अनुमान था. लेकिन कोरोना वायरस के चलते कर संग्रह में 15 हजार करोड़ रुपए से ज्यादा की कमी आई है.

आपको बत दें कि राज्य सरकार ने 2019-20 का बजट 2.38 लाख करोड़ रुपए का पास किया था. इस लिहाज से 2020-21 के बजट में 20% की कटौती की जाएगी. आपको बता दें कि राज्य सरकार की तरफ से 2020-21 का बजट मानसून सत्र में पेश किया जाएगा.  

केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी के खिलाफ अभद्र टिप्पणी करने पर कांग्रेस विधायक भार्गव पर FIR

ये योजनाएं होंगी बंद
कोरोना वायरस के चलते राजस्व संग्रह में कमी के चलते राज्य सरकार कई योजनाओं में कटौती करेगा. इसलिए ऐसा माना जा रहा है कि किरोसीन के साथ कुप्पी बांटे जाने के लिए हर साल 16 करोड़ रुपए के प्रावधान को सरकार खत्म कर सकती है, क्योंकि कुप्पी कहीं बटती नहीं है.

बजट में कटौती के चलते राज्य सरकार सरकारी अफसरों की बिजनेस क्लास श्रेणी में हवाई यात्रा पर ब्रेक लगा सकती है. ऐसे में अफसरों के इस सेवा का लाभ सिर्फ विशेष परिस्थियों में ही दिया जाएगा.

Watch Live TV-