close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

राहुल गांधी के खिलाफ आपराधिक मानहानि मामले में शिवराज के बेटे ने दर्ज कराए बयान

29 अक्तूबर को राहुल गांधी ने झाबुआ में एक रैली को संबोधित करते हुए कहा था कि सीएम शिवराज के बेटे कार्तिकेय चौहान का नाम पनामा पेपर लीक मामले में शामिल है. 

राहुल गांधी के खिलाफ आपराधिक मानहानि मामले में शिवराज के बेटे ने दर्ज कराए बयान
राहुल के इस बयान पर सीएम शिवराज सिंह चौहान ने उन्हें आड़े हाथों लिया था. (फोटो साभार : ANI)

भोपाल: कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी पर आपराधिक मानहानि केस मामले में मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान के पुत्र कार्तिकेय चौहान ने शनिवार को अपने बयान दर्ज कराये. बयान दर्ज कराने के बाद कार्तिकेय चौहान ने कहा कि उन्होंने मेरे खिलाफ जनता के बीच आरोप लगाए थे कि मेरा नाम पनामा पेपर लीक मामले में शामिल है. बाद में उन्होंने कहा कि वे गलत हैं. कार्तिकेय ने कहा कि मेरे और मेरे पिता शिवराज सिंह पर झूठे आरोप लगाए गए हैं. मैंने इस मामले में आज अपने बयान दर्ज करा दिए हैं.  

गौरतलब है कि 29 अक्तूबर को राहुल गांधी ने झाबुआ में एक रैली को संबोधित करते हुए कहा था कि सीएम शिवराज के बेटे कार्तिकेय चौहान का नाम पनामा पेपर लीक मामले में शामिल है. वहीं, राहुल के इस बयान पर सीएम शिवराज सिंह चौहान ने उन्हें आड़े हाथों लिया था. जिसके बाद राहुल गांधी ने कहा था कि बीजेपी में इतना भ्रष्टाचार है कि उन्होंने कन्फ्यूज होकर कार्तिकेय का नाम ले लिया.

राहुल ने कहा- 'कमल, आईसक्रीम अच्'€à¤›à¥€ है तुम भी खाओ', CM शिवराज ने कसा तंज

राहुल के गलती मानने के बावजूद भी मामला यहीं पर नहीं थमा सीएम शिवराज के बेटे कार्तिकेय चौहान ने इस मामले पर कांग्रेस अध्यक्ष के खिलाफ आपराधिक मानहानि का केस दर्ज कराया था. इस मामले में कार्तिकेय ने शनिवार तो भोपाल की जिला अदालत में अपने बयान दर्ज कराए. वहीं, कार्तिकेय के वकील ने इस मामले की जानकारी देते हुए बताया कि राहुल गांधी के द्वारा लगाए गए आरोप आपराधिक कृत्य के अंतर्गत आते हैं. आज मामले में कार्तिकेय के बयान दर्ज हुए हैं और केस की अगली सुनवाई 17 दिसंबर तय की गई है. 

राहुल गांधी का बयान
दरअसल, राहुल गांधी ने इंदौर में अपने चुनावी दौरे में पनामा पेपर और व्यापमं घोटाले की बात करते हुए कहा था कि 'कुछ धनी लोगों के काले धन को सफेद करने के लिए ही 2016 में नोटबंदी की गई थी. एक मुख्यमंत्री 'मामाजी' के बेटे का नाम भी पनामा पेपर्स में आया था, लेकिन उनके खिलाफ आज तक कोई कार्यवाई नहीं की गई. नवाज शरीफ पाकिस्तान के प्रधानमंत्री का नाम निकलता है तो पाकिस्तान जैसा देश उन्हें जेल में डाल देता है, लेकिन जब यहां के मुख्यमंत्री के बेटे का नाम पनामा पेपर्स में निकला तो कोई कार्यवाई नहीं की गई.'

पनामा पेपर्स में संलिप्तता बेबुनियाद आरोप- शिवराज
वहीं राहुल गांधी के बयान को निशाने पर लेते हुए सीएम शिवराज ने कहा था कि 'राहुल गांधी जी ने आज सार्वजनिक सभा में मुझ पर पनामा पेपर्स में संलिप्त होने का बेबुनियाद आरोप लगाया है. मैं उनके इस बयान से काफी व्यथित हूं, उनसे उम्र में काफी छोटा हूं, पर ऐसी गैर-जिम्मेदाराना बात बोल कर मेरी और मेरे परिवार की छवि को खंडित करने का यह प्रयास बचपने की आड़ में एक सोची समझी साजिश लगती है. राहुल गांधी ने कहा है कि मेरे बेटे कार्तिकेय का नाम पनामा पेपर्स में आया है यह कहकर उन्होंने सारी हदें पार कर दी हैं.'