close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

MP: कर्ज ने निगल ली 1 जिंदगी, फसल सड़ने पर किसान ने फांसी लगाकर दी जान

मृतक किसान के ऊपर बैंक और साहूकारों का करीब 12 लाख का कर्ज होने से वह काफी दिनों से तनाव में था. वहीं कमलनाथ सरकार की घोषणा के मुताबिक उसका बैंक का दो लाख रुपये का कर्ज भी अभी तक माफ नहीं किया गया था.

MP: कर्ज ने निगल ली 1 जिंदगी, फसल सड़ने पर किसान ने फांसी लगाकर दी जान
(सांकेतिक तस्वीर)

रायसेनः मध्य प्रदेश में कमलनाथ सरकार के कर्ज माफी योजना के बावजूद  भी कर्ज से परेशान किसान आत्महत्या करने को मजबूर हैं. ताजा मामला प्रदेश के रायसेन जिले का है, जहां कर्ज से परेशान एक किसान के खेत में  अति बृष्टि के चलते सोयाबीन फसल सड़ गई और उसमें दाने नहीं निकले तो परेशान किसान ने एक पेड़ पर लटककर फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली. मृतक किसान के ऊपर बैंक और साहूकारों का करीब 12 लाख का कर्ज होने से वह काफी दिनों से तनाव में था. वहीं कमलनाथ सरकार की घोषणा के मुताबिक उसका बैंक का दो लाख रुपये का कर्ज भी अभी तक माफ नहीं किया गया था. 

रायसेन के बेगमगंज तहसील के ग्राम तुलसीपुर में 39 वर्षीय वीरेंद्र सिंह यादव पिता हरि सिंह यादव पिछले कुछ दिनों से अपने खेत में खड़ी फसल को देख परेशान था. कर्ज से परेशान बीरेंद्र यादव किसान के खेत में अति बृष्टि के चलते सोयाबीन फसल सड़ गई और उसमें दाने नहीं निकले. जिससे भ तनाव में था. दरसअल, इस साल बारिश की बजह से जिले में सोयाबीन की फसल 80 प्रतिशत तक बर्बाद हो चुकी है, बची हुई फसल में उम्मीद के मुताबिक दाने ही नही निकल रहे हैं. 

देखें LIVE TV

MP: बच्ची ने मंदिर की दानपेटी से चुराए 250 रुपये, CM कमलनाथ ने ऐसे की मदद

किसानों का कहना है कि इस साल बारिश में पानी नहीं सीमान्त किसानों पर कहर बरसा है. इधर मृतक किसान के परिजनों ने बताया कि बीरेंद्र के ऊपर बैंक और साहूकारों का करीब 12 लाख का कर्ज होने से वह काफी दिनों से तनाव में था. वहीं कमलनाथ सरकार की घोषणा के मुताबिक उसका बैंक का दो लाख  रुपये का कर्जा भी माफ अभी तक नही किया गया था. आज दोपहर सूचना मिली कि तुलसीपार में एक पेड़ से लटककर फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली. जिसके बाद परिजनों ने मौके पर जाकर देखा तो उसकी शिनाख्त वीरेंद्र यादव के रूप में हुई. 

CM कमलनाथ ने प्रधानमंत्री से बाढ़ पीड़ितों के लिए 9000 करोड़ रुपये मांगे

घटना के बाद ग्रामवासियों ने पुलिस को घटना की जानकारी दी. सूचना मिलने पर बेगमगंज थाना प्रभारी बीरेंद्र सिंह घटना स्थल पर पहुंचे और शव को पेड़ से उतरवा कर पोस्टमार्टम के लिए देर शाम को शव को बेगमगंज अस्पताल भेजा गया. इस संबंध में बेगमगंज एसडीओपी ने बताया कि मर्ग कायम कर मामले को विवेचना में लिया गया है. मृतक किसान की आत्महत्या के कारणों की जांच की जा रही है जिसके बाद ही घटना के सही कारणों का खुलासा हो सकेगा.