शादी के सालों बाद भी प्रेमी को नहीं भुला पाई पत्नी, इसलिए तलाक को तैयार हो गया पति

सॉफ्टवेयर इंजीनियर (Software Engineer) ने अपनी पत्नी को सिर्फ इसलिए तलाक देने का फैसला कर लिया है, ताकि उसकी पत्नी अपने पहले प्यार यानी प्रेमी के साथ खुशमय जिंदगी जिए.

शादी के सालों बाद भी प्रेमी को नहीं भुला पाई पत्नी, इसलिए तलाक को तैयार हो गया पति
(सांकेतिक तस्वीर)

भोपाल: मध्य प्रदेश की भोपाल (Bhopal) में एक हैरान कर देने वाला मामला सामने आया है. एक सॉफ्टवेयर इंजीनियर (Software Engineer) ने अपनी पत्नी को सिर्फ इसलिए तलाक देने का फैसला कर लिया है, ताकि उसकी पत्नी अपने पहले प्यार यानी प्रेमी के साथ खुशमय जिंदगी जिए. यह कहानी राजधानी के कोलार क्षेत्र में रहने वाले दंपति राजेश और कल्पना (काल्पनिक नाम) की है. पत्नी कल्पना फैशन डिजाइनर और पति राजेश सॉफ्टवेयर इंजीनियर हैं. दोनों की सात साल पहले शादी हुई थी और उनके दो बच्चे भी हैं. पति और पत्नी के बीच अचानक ही महिला के पूर्व प्रेमी के आ जाने से पति-पत्नी के बीच दूरी बढ़ती गई. महिला अपने प्रेमी की खातिर घर तक छोड़ने को तैयार है. यह मामला कुटुंब न्यायालय में चल रहा है.

बताया गया है कि कल्पना का शादी से पहले एक युवक से प्रेम प्रसंग चल रहा था. शादी के बाद भी कल्पना के प्रेमी से रिश्ते रहे. प्रेमी दूसरी जाति का था, लिहाजा कल्पना के पिता अंतर्जातीय विवाह के लिए तैयार नहीं हुए और उसकी इच्छा के विपरीत शादी कर दी. दीवाने प्रेमी ने अब तक शादी नहीं की है. पति-पत्नी के बीच की दूर कम हो, इसके लिए दोनों की काउंसिलिंग कराई गई मगर बात नहीं बनी. पति राजेश ने काउंसलर को बताया कि कल्पना तमाम प्रयासों के बाद भी उसके साथ खुश नहीं है. 

ग्वालियर: पारिवारिक कलह के चलते पति ने पत्नी की हत्या कर खुद को मार ली गोली

वह प्रेमी को ज्यादा चाहती है, उसे भुला नहीं पा रही है. वहीं कल्पना ने काउंसिलिंग के दौरान माना कि वह अपने पहले प्यार को भुला नहीं सकती. वह प्रेमी के साथ ही रहना चाहती है. राजेश अगर बच्चों को नहीं रखेंगे तो वह उनको अपने साथ रखेगी. कुटुंब न्यायालय में राजेश ने अपनी पत्नी कल्पना की शादी उसके प्रेमी से कराने की बात कही, साथ ही तलाक की अर्जी भी दी है.

1978 में बीमारी की वजह से कैलाश जोशी ने छोड़ी थी CM की कुर्सी, फिर भी 39 साल बाद तक रहे सक्रिय

काउंसलर शैल अवस्थी भी यह प्रेमकथा सुनकर हैरान रह गए. उनका कहना है कि यह पहला ऐसा मामला सामने आया है, जिसमें एक पति सिर्फ इसलिए तलाक देने को तैयार है, ताकि उसकी पत्नी अपने प्रेमी के साथ रह सके. नेकदिल पति बच्चों का पालन-पोषण करने को भी तैयार है.