close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

बारिश के कहर से जूझ रहा मध्य प्रदेश, पूर्व CM बोले- सरकार की लापरवाही से हुआ यह हाल

दमोह जिले के कई इलाकों में बीते दो दिनों से लगातार जारी बरसात की वजह से जुड़ी नदी खतरे के निशान से ऊपर बह रही है और बटियागढ़ में बने पुल अच्छा खासा पानी है और पुल पर तेज बहाव वाला पानी होने के कारण रास्ता जाम हो गया है.

बारिश के कहर से जूझ रहा मध्य प्रदेश, पूर्व CM बोले- सरकार की लापरवाही से हुआ यह हाल
आज से 24 घंटे के लिए मंदसौर में धरने पर बैठेंगे पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान

भोपालः मध्यप्रदेश के मंदसौर, नीमच, दमोह और ग्वालियर चंबल संभाग में भारी बारिश के बाद हालात काफी बिगड़ गए हैं, जिससे लोगों को भारी समस्याओं का सामना करना पड़ रहा है. जिस पर पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने प्रदेश की कांग्रेस सरकार के खिलाफ मोर्चा खोल दिया है. ऐसे में मंदसौर में हो रही लगातार बारिश से कई जगहों पर बाढ़ जैसे हालात बन गए हैं, जिससे कई गांव तहस-नहस हो गए हैं. मंदसौर के पाडलिया मारू गांव में हालात यह हैं कि गांव में हाल ही में बनाया गया मांगलिक भवन भी बह गया. इस पक्के मांगलिक भवन के सिर्फ अवशेष बचे हैं, जिन्हें देखकर अंदाजा लगाया जा सकता है, कि बाढ़ कितनी भयानक रही होगी. इस शासकीय विधायक निधि से बने मांगलिक भवन का उद्घाटन भी होना बाकि था, लेकिन इससे पहले ही यह बाढ़ के साथ बह गया.

मल्हारगढ़ के विधायक जगदीश देवड़ा ने बताया कि मांगलिक भवन बाढ़ में पूरी तरह से बर्बाद हो चुका है. विधायक निधि से बने इस मांगलिक भवन का लोकार्पण होना अभी शेष था. उन्होंने कमलनाथ सरकार पर भी कटाक्ष करते हुए कहा कि सरकार 50-50 किलो गेहूं लोगों को दे रही है वह तो ठीक है, लेकिन इनके रहने के लिए भी कोई प्रबंध करें और इन्हें नगद राशि भी प्रदान करें. जिसके जरिए इनका गुजर बसर हो सके.

देखें LIVE TV

मध्यप्रदेश के कई हिस्सों में भारी बारिश के बाद बिगड़े हालातों के चलते मंदसौर के कलेक्टर ऑफिस के बाहर आज पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान 24 घंटे के लिए धरना प्रदर्शन पर बैठेंगे. सुबह 10:00 बजे से शुरू होने वाले धरना प्रदर्शन में शिवराज सिंह चौहान के साथ स्थानीय बीजेपी विधायक और बीजेपी नेताओं के साथ-साथ बाढ़ पीड़ित और किसान भी शामिल होंगे. शिवराज सिंह चौहान बाढ़ पीड़ितों के लिए सहायता और बिजली बिल माफी की मांग को लेकर यह धरना प्रदर्शन कर रहे हैं.

मध्य प्रदेश में बारिश ने तोड़े सभी रिकॉर्ड, जानें क्या कहते हैं आंकड़े

दमोह जिले के कई इलाकों में बीते दो दिनों से लगातार जारी बरसात की वजह से जुड़ी नदी खतरे के निशान से ऊपर बह रही है और बटियागढ़ में बने पुल अच्छा खासा पानी है और पुल पर तेज बहाव वाला पानी होने के कारण रास्ता जाम हो गया है. यहां नदी के पुल के दोनों किनारे पुलिस बल की तैनाती की गई है, ताकि लोग खतरा मोल लेकर रास्ता पार ना करें. वहीं आपदा प्रबंधन की टीम को भी एलर्ट पर रखा गया है. इस इलाके में चिंता की बात ये है कि नदी के दोनों तरफ घनी बस्ती वाला इलाका है और सैकड़ों घर नदी के बिलकुल नजदीक हैं. ऐसे में अगर नदी का जलस्तर और बढ़ता है तो हालात खतरनाक हो सकते हैं. फिलहाल प्रशासन हालातों पर नजर बनाए हुए है.