close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

नाबालिग से रेप और हत्या के मामले में पीड़िता के घर पहुंची पुलिस और बोले- नाश्ता और चाय लेकर आओ

परिजनों ने पूरे मामले में पुलिस को लापरवाह ठहराया है. परिजनों का कहना है कि 'बच्ची रात के करीब 8 बजे घर से गुटखा लेने निकली थी, लेकिन काफी देर हो जाने पर जब वह घर नहीं पहुंची तो हमने उसकी तलाश शुरू की. काफी देर तक बच्ची के ना मिलने पर पुलिस स्टेशन पहुंचे और बच्ची के लापता होने की शिकायत की.

नाबालिग से रेप और हत्या के मामले में पीड़िता के घर पहुंची पुलिस और बोले- नाश्ता और चाय लेकर आओ
शिकायत पर पुलिस ने समय पर नहीं की कार्रवाई (फाइल फोटो)

भोपालः मध्य प्रदेश की राजधानी भोपाल एक बार फिर शर्मसार हो गई है. जहां रविवार सुबह नेहरू नगर के आईएफएम मांडवा बस्ती के पास नाले में 10 साल की बच्ची का शव मिलने के बाद पूरे इलाके में सनसनी फैल गई है. मिली जानकारी के मुताबिक मृतक बच्ची शनिवार की रात 8 बजे से लापता थी, जिसके बाद परिजनों ने पुलिस में इसकी शिकायत की, लेकिन वहां उन्हें पुलिस का लापरवाह रवैया देखने को मिला और उसका नतीजा यह हुआ कि रविवार सुबह परिजनों को बच्ची नहीं बल्कि उसकी लाश मिली. वहीं आशंका जताई जा रही है कि बच्ची के साथ बलात्कार के बाद उसकी हत्या की गई है और उसके बाद उसकी लाश नाले में फेंक दी गई. 

वहीं परिजनों ने पूरे मामले में पुलिस को लापरवाह ठहराया है. परिजनों का कहना है कि 'बच्ची रात के करीब 8 बजे घर से गुटखा लेने निकली थी, लेकिन काफी देर हो जाने पर जब वह घर नहीं पहुंची तो हमने उसकी तलाश शुरू की. काफी देर तक बच्ची के ना मिलने पर पुलिस स्टेशन पहुंचे और बच्ची के लापता होने की शिकायत की, लेकिन पुलिस ने मामले को गंभीरता से नहीं लिया.' इस पूरी घटना के बाद परिजन पार्षद के पास पहुंचे, जहां करीब 11 बजे पार्षद के कहने पर कमला नगर थाना पुलिस पीड़ित के परिवार पहुंची और वहां पुलिस ने परिजनों से चाय-नाश्ता कराने का फरमान दिया.

देखें लाइव टीवी

परिजनों के मुताबिक बच्ची के गायब होने पर वह तुरंत पुलिस स्टेशन पहुंचे थे, लेकिन पुलिस की लापरवाही के चलते यह सब हो गया. पुलिस अगर तुरंत छानबीन शुरू कर देती तो बच्ची जिंदा होती. वहीं सुबह नाले के पास बच्ची के शव मिलने के बाद बच्ची का परिजन काफी गुस्से में है. जिसके चलते हालातों को काबू करने के लिए आस-पास के इलाकों में भारी पुलिस बल और एसटीएफ की टीम तैनात कर दी है.

वहीं बच्ची के परिजनों के आरोप के बाद लापरवाही बरतने पर IG योगेश देशमुख ने कमला नगर थाने के एक पुलिस कर्मी को सस्पेंड कर दिया है. वहीं बच्ची के साथ हुई घटना के बारे में आईजी योगेश देशमुख का कहना है कि 'प्राथमिक जांच में लग रहा है कि बच्ची के साथ कुछ गलत हुआ है, लेकिन पोस्टमार्टम रिपोर्ट आने के बाद ही कुछ स्पष्ट हो पाएगा.'