close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

जिला शिक्षा केंद्र में धांधली का खुलासा, बिना एक्सटेंशन बांट दी 1 करोड़ 70 लाख की सैलरी

मध्य प्रदेश के भिंड के जिला शिक्षा केंद्र में वित्तीय धांधली का बड़ा मामला सामने आया है. जहां 54 संविदा कर्मियों को बिना एक्सटेंशन के 19 महीने में लगभग एक करोड़ सत्तर लाख रुपए सैलरी के रूप में बांट दिए गए.

जिला शिक्षा केंद्र में धांधली का खुलासा, बिना एक्सटेंशन बांट दी 1 करोड़ 70 लाख की सैलरी

प्रदीप शर्मा/भिंडः मध्य प्रदेश के भिंड के जिला शिक्षा केंद्र में वित्तीय धांधली का बड़ा मामला सामने आया है. जहां 54 संविदा कर्मियों को बिना एक्सटेंशन के 19 महीने में लगभग एक करोड़ सत्तर लाख रुपए सैलरी के रूप में बांट दिए गए. कलेक्टर छोटे सिंह ने मामले की जानकारी सामने आने के बाद शिक्षा केंद्र के क्लर्क पवन गुप्ता को तत्काल निलंबित कर दिया और अकाउंटेंट के खिलाफ विभागीय जांच के आदेश दे दिए हैं.

दरअसल, जिला शिक्षा विभाग में कर्मचारियों की कमी को पूरा करने के लिए संविदा आधार पर कर्मचारियों की नियुक्ति की जाती है. समय पूरा होने पर इन कर्मचारियों को या तो बाहर कर दिया जाता है या एक्सटेंशन दिया जाता है. भिंड जिला शिक्षा विभाग में पदस्थ 54 कर्मचारियों को मार्च 2018 के बाद कोई एक्सटेंशन नहीं दिया गया था, लेकिन उनका वेतन लगातार जारी किया जाता रहा. कलेक्टर को पूरे मामले की जानकारी विभागीय समीक्षा के  दौरान पता चली. जिसके बाद कार्रवाई के निर्देश दिये गए हैं. 

देखें LIVE TV

मध्य प्रदेशः ट्रेनिंग करने आए शिक्षकों को नहीं मिला खाना, किया जमकर हंगामा

बता दें 2 महीने पहले कलेक्टर द्वारा विभाग की समीक्षा बैठक ली गई थी, जिसमें कलेक्टर ने विभागीय अव्यवस्थाओं को दुरुस्त करने के निर्देश दिए थे, लेकिन कर्मचारियों द्वारा लापरवाही बरतते हुए कलेक्टर के आदेश का पालन नहीं किया गया. जिसके बाद आज कलेक्टर ने दोबारा विभागीय समीक्षा की गई जिसमें संविदा कर्मियों को बिना एक्सटेंशन दिए वेतन दिए जाने की भारी वित्तीय अनियमितता कलेक्टर के संज्ञान में आते ही उन्होंने विभाग के बाबू पवन कुमार गुप्ता को तत्काल प्रभाव से सस्पेंड कर दिया.