आरोप: दबंगों ने दलित परिवार को गांव से निकाला, गुनाह- अपने मन के प्रत्याशी को दिया था वोट

बीते 3 नवंबर को प्रदेश में 28 सीटों पर उप चुनाव के मतदान हुए थे, जिसमें शिवपुरी जिले की पोहरी सीट भी शामिल थी. इस सीट  पर भाजपा के सुरेश धाकड़ ने जीत दर्ज की.

आरोप: दबंगों ने दलित परिवार को गांव से निकाला, गुनाह- अपने मन के प्रत्याशी को दिया था वोट
शिवपुरी एसपी दफ्तर के बाहर भोजन बनाता पीड़ित दलित परिवार.

दीपक/शिवपुरीः मध्य प्रदेश के शिवपुरी जिले में दबंगई का एक ऐसा मामला समाने आया है जिसमें एक दलित परिवार को महज इस लिए 'गांव निकाला' दे दिया गया, क्योंकि उन्होंने अपनी मर्जी से मतदान किया था. झलवासा गांव के दलित परिवार ने आरोप लगाया है कि हाल में हुए उपचुनाव में पोहरी सीट पर उन्होंने भाजपा प्रत्याशी की जगह बसपा प्रत्याशी को वोट दिया था. इससे गांव के कुछ दबंग इतने गुस्साए कि दलित परिवार का गांव निकाला कर दिया. अब दलित परिवार शिवपुरी में एसपी ऑफिस के सामने अपनी फरियाद सुनने के लिए धरने पर बैठा हुआ है. उनका कहना है कि जब तक उन्हें इंसाफ नहीं मिल जाता वे यहां से नहीं उठेंगे.

सिंधिया बोले- ''बाहर आ रहा कांग्रेस के अंदर का खेल'', जवाब मिला- मायके नहीं ससुराल की चिंता कीजिए

पोहरी विधानसभा सीट पर जीते थे भाजपा उम्मीदवार सुरेश धाकड़
बीते 3 नवंबर को प्रदेश में 28 सीटों पर उप चुनाव के मतदान हुए थे, जिसमें शिवपुरी जिले की पोहरी सीट भी शामिल थी. झलवासा गांव के हरवीर सिंह का आरोप है कि दबंग रामकिशन धाकड़ और उसके साथियों ने उनके परिवार को भाजपा के लिए वोट डालने को कहा. उपचुनाव खत्म हुए और पोहरी सीट पर भाजपा के सुरेश धाकड़ ने जीत दर्ज की. यहां कांग्रेस के हरिवल्लभ शुक्ला दूसरे स्थान पर रहे. धाकड़ समाज के कुछ लोगों ने पंचायत में शिकायत कर दी कि हरवीर सिंह के परिवार ने भाजपा को वोट नहीं दिया है. इसी बात पर दलित परिवार का गांव निकाला कर दिया गया. 

रामेश्वर शर्मा की मांग, ''ईदगाह हिल्स का नाम गुरुनानक टेकरी हो'', कांग्रेस ने बताया विभाजनकारी

शिवपुरी एसपी ने कही जांच के बाद दोषियों पर कार्रवाई की बात
पीड़ित हरवीर सिंह का आरोप है कि विधायक सुरेश घाकड़ के कहने पर पुलिस वाले भी उन्हें और उनके परिवार को परेशान कर रहे हैं. कोई सुनवाई नहीं हो रही. इसलिए वह शिवपुरी एसपी दफ्तर के बाहर अपने परिवार के साथ धरने पर बैठने के लिए मजबूर हैं. हरवीर ने का कहना है कि जब तक उन्हें इंसाफ नहीं मिलेगा वह अपने परिवार के साथ एसपी ऑफिस के सामने ही धरने पर बैठे रहेंगे. शिवपुरी के एएसपी प्रवीण कुमार भूरिया को पीड़ित परिवार का आवेदन प्राप्त हुआ है. उन्होंने कहा कि वह बैराड़ थाने से इस बात की जानकारी ले रहे हैं. मामले में जांच की जा रही है. जो भी तथ्य सामने आएंगे उसके आधार पर कार्रवाई होगी.

Army कैंटीन की तर्ज पर Farmers कैंटीन खोलेगी शिवराज सरकार, शॉपिंग मॉल की मिलेंगी सुविधाएं!

WATCH LIVE TV