close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

ट्रायल में टारगेट अचीव नहीं कर पाया MP का 'उसेन बोल्ट', मंत्री बोले- एक महीने की ट्रेनिंग के बाद फिर देंगे मौका

मध्य प्रदेश के 'उसेन बोल्ट' कहे जा रहे रामेश्वर ने 12.90 सेकेंड में यह रेस पूरी की, जबकि सोशल मीडिया पर रामेश्वर का जो वीडियो वायरल हो रहा था, उसमें उन्होंने 100 मीटर की रेस 11 सेकेंड में ही पूरी कर ली थी.

ट्रायल में टारगेट अचीव नहीं कर पाया MP का 'उसेन बोल्ट', मंत्री बोले- एक महीने की ट्रेनिंग के बाद फिर देंगे मौका
वायरल वीडियो में 11 सेकेंड में 100 मीटर की दौड़ पूरी करते दिखे थे रामेश्वर गुर्जर (फोटो साभारः ANI)

भोपालः सिर्फ 11 सेकेंड में 100 मीटर की दौड़ कम्प्लीट करने वाले धावक रामेश्वर गुर्जर का सोमावार की सुबह भोपाल के टीटी नगर स्टेडियम में ट्रायल लिया गया. इस दौरान रामेश्वर को जूते उपलब्ध कराए गए और उसके बाद दौड़ने को कहा गया, लेकिन वह उम्मीद के मुताबिक प्रदर्शन नहीं कर पाए. जूते पहनने के बाद मध्य प्रदेश के 'उसेन बोल्ट' कहे जा रहे रामेश्वर ने 12.90 सेकेंड में यह रेस पूरी की, जबकि सोशल मीडिया पर रामेश्वर का जो वीडियो वायरल हो रहा था, उसमें उन्होंने 100 मीटर की रेस 11 सेकेंड में ही पूरी कर ली थी.

ऐसे में मध्य प्रदेश के खेलमंत्री भी रामेश्वर के ट्रायल के दौरान स्टेडियम में मौजूद रहे. बता दें रामेश्वर को खुद खेल मंत्री जीतू पटवारी ने ही भोपाल के लिए बुलावा भेजा था और उनके कहने के बाद ही रामेश्वर के लिए इस ट्रायल का आयोजन किया गया था, जिसमें वह अपना टारगेट अचीव नहीं कर पाए. 

देखें लाइव टीवी

रामेश्वर के ट्रायल पर बात करते हुए प्रदेश के खेल मंत्री जीतू पटवारी ने मीडिया से बात करते हुए कहा कि, 'रामेश्वर अपना टारगेट अचीव नहीं कर पाया. उसे अब एक महीने स्टेडियम में प्रशिक्षण दिया जाएगा, जिसके बाद दोबारा उसका ट्रायल लिया जाएगा. साथ ही उसे अपनी स्ट्रेंथ को बढ़ाने के लिए बेहतर डायट की जरूरत है. प्रदेश सरकार उसकी हर तरह से मदद करेगी.'

MP: भोपाल और इंदौर को मिला मेट्रो का तोहफा, 2023 से कर सकेंगे सफर

बता दें मध्य प्रदेश के शिवपुरी के रहने वाले रामेश्वर गुर्जर ने 10वीं तक पढ़ाई की है और उनके परिवार में माता-पिता और पांच भाई-बहन हैं. पूरा परिवार खेती-किसानी करता है. रामेश्वर ने परिवार की आर्थिक स्थिति कमजोर होने के कारण आगे पढ़ाई नहीं की, लेकिन दौड़ के प्रति उनका लगाव आर्थिक स्थितियों के कमजोर होने के बाद भी कम नहीं हुई और हाल ही में उनकी इसी प्रतिभा का एक वीडियो भी वायरल हुआ था, जिसमें रामेश्वर ने 11 सेकेंड में 100 मीटर की दौड़ पूरी की थी.