नये साल पर 'महाकाल' के दर्शन करने का बना रहे हैं प्लान, तो पहले पढ़ लें ये जरूरी खबर

मंदिर प्रशासन के अनुसार, आपको दर्शन के लिए महाकाल मंदिर पर पहुंचकर ऑफलाइन रहकर ही परमिशन लेनी होगी. 

नये साल पर 'महाकाल' के दर्शन करने का बना रहे हैं प्लान, तो पहले पढ़ लें ये जरूरी खबर
इन दो दिनों में लगातार हर साल की तरह इस बार भी श्रद्धालुओं की बड़ी संख्या में आने की उम्मीद है.

उज्जैन: नये साल की शुरूआत और उससे पहले लोगों का मंदिर में दर्शन करना एक आम बात है. अगर आप भी नये साल पर महाकालेश्वर के दर्सन करने का प्लान बना रहे हैं, तो ये खबर आपके लिए ही है. दरअसल, उज्जैन के महालकालेश्वर मंदिर में हर वर्ष की भांति इस वर्ष भी भक्तों की भारी भीड़ उमड़ने की संभावना है. इसे देखते हुए मंदिर प्रशासन ने कुछ फैसले लिए हैं. 31 दिसम्बर और नववर्ष की पहली सुबह यानी एक जनवरी को होने वाली विश्व प्रसिद्ध भगवान महाकालेश्वर की भस्म आरती में शामिल होने की यदि आपकी इच्छा है तो, अभी से सतर्क होना होगा. मंदिर प्रशासन ने इसके लिए ऑनलाइन बुकिंग बंद कर दी है.

मंदिर प्रशासन के अनुसार, आपको दर्शन के लिए महाकाल मंदिर पर पहुंचकर ऑफलाइन रहकर ही परमिशन लेनी होगी. वहीं, भीड़ को लेकर मंदिर समिति ने दावा किया है कि इन 2 दिनों में भीड़ अधिक रहेगी. उसके बावजूद भी श्रद्धालुओं को मात्र 45 मिनट में दर्शन करने को मिलेंगे. मंदिर प्रशासन के अनुसार, भस्म आरती के दर्शनों के लिए जो विभागीय प्रक्रिया है, उसके तहत ऑनलाइन बुकिंग फिलहाल बंद कर दी गई है. 

वहीं, इन दो दिनों में लगातार हर साल की तरह इस बार भी श्रद्धालुओं की बड़ी संख्या में आने की उम्मीद है. इसी के चलते मंदिर समिति ने जो प्लान श्रद्धालुओं के लिए तैयार किया है. उसके तहत 31 दिसंबर और 1 जनवरी को दोनों ही दिन श्रद्धालुओं को मात्र 45 मिनट में दर्शन का लाभ देने की मंशा मंदिर समिति ने जताई है. मंदिर समिति ने कहा है कि आने वाले श्रद्धालुओं को जल्द से जल्द दर्शन मिलें, यही हम सभी की इच्छा है और दूर-दूर से आने वाले श्रद्धालुओं को भीड़ अधिक होने के बाद भी दिक्कतों का सामना नहीं करना पड़ेगा.