पथरी का ऑपरेशन कराने गई 62 साल की महिला का डॉक्टर ने निकाल ली किडनी, मचा बवाल

एक वृद्ध महिला के परिजनों ने शिकायत की है कि जब वह पथरी का आपरेशन कराने एक खरसिया कस्बे में स्थित निजी अस्पताल पहुंची तब चिकित्सकों ने उसकी किडनी निकाल ली. 

पथरी का ऑपरेशन कराने गई 62 साल की महिला का डॉक्टर ने निकाल ली किडनी, मचा बवाल
प्रतीकात्मक तस्वीर

रायगढ़: छत्तीसगढ़ के रायगढ़ जिले में एक महिला के परिजनों ने आरोप लगाया है कि पथरी का ईलाज करने के दौरान चिकित्सकों ने उसकी किडनी निकाली ली. जिला प्रशासन ने मामले की जांच शुरू कर दी है. रायगढ़ जिले के अधिकारियों ने मंगलवार यहां बताया कि एक वृद्ध महिला के परिजनों ने शिकायत की है कि जब वह पथरी का आपरेशन कराने एक खरसिया कस्बे में स्थित निजी अस्पताल पहुंची तब चिकित्सकों ने उसकी किडनी निकाल ली. अधिकारियों ने बताया कि महिला के परिजनों ने इस मामले में चिकित्सकों के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज करने की मांग को लेकर एसडीएम और एसडीओपी से शिकायत की है.

उन्होंने बताया कि शिकायत के बाद रायगढ़ के जिलाधकारी यशवंत कुमार ने आज खरसिया के एसडीएम गिरीश रामटेके के नेतृत्व में तीन वरिष्ठ चिकित्सक समेत पांच सदस्यीय प्रशासनिक जांच समिति गठित की है. इस समिति की जांच रिपोर्ट दिनों के भीतर अनिवार्य रुप से प्रस्तुत करने ​के लिए कहा गया है.

अधिकारियों ने बताया कि जांजगीर चांपा जिले के मरकाम गोड़ी गांव निवासी सुमित्रा पटेल (62 वर्ष) के परिजनों ने ​शिकायत की है कि उनका पथरी का आपरेशन 30 मई को खरसिया के निजी अस्पताल "वनांचल केयर" में हुआ था. इस दौरान चिकित्सकों ने महिला की बाएं किडनी निकाल ली. परिजनों की शिकायत है कि चिकित्सकों ने आपरेशन के बाद पथरी तो दिखाई लेकिन किडनी नहीं दिखाई.

और न ही किडनी निकाले जाने के बारे में बताया. उन्होंने बताया कि पीड़ित महिला के पुत्र एश्वर्य प्रसाद पटेल ने शिकायत कर चिकित्सक वी.एस.राठिया, आर.के.सिंह और सजन अग्रवाल के खिलाफ मामला दर्ज करने की मांग की है. इधर चिकित्सकों का कहना है कि इंफेक्शन होने के कारण महिला की जान बचाने के उद्देश्य से परिजनों की सहमति से उसकी किडनी निकाली गई है.

जिले के खरसिया क्षेत्र की एसडीओपी गरिमा द्विवेदी ने जांच के बाद मामला दर्ज करने के लिए कहा है.