close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

सोशल मीडिया पर युवती बनकर लड़कियों से कर रहा था चैटिंग, पकड़े जाने पर हुआ बड़ा खुलासा

युवक रायपुर की किसी महिला की फेस बुक आईडी हैक करके 1500 से अधिक महिला की जिंदगी से खेल रहा था. गुरुवार की शाम रायपुर के व्यापारियो की शिकायत पर छत्तीसगढ़ पुलिस सतना पहुंची और आशीष सरावगी के चौक बाजार स्थित घर व दुकान में दबिश दी,

सोशल मीडिया पर युवती बनकर लड़कियों से कर रहा था चैटिंग, पकड़े जाने पर हुआ बड़ा खुलासा
सांकेतिक तस्वीर

नई दिल्लीः सोशल मीडिया अगर लोगों तक अपनी बात पहुंचाने का आसन तरीका है तो इसके साइड इफेक्ट भी काफी हैं. सोशल साइट के ऐसे ही साइड इफेक्ट का एक और नया मामला उजागर हुआ है. जिसने छत्तीसगढ़ के रायपुर के दो परिवारों में रिस्तो में दरार डाल दी थी. जैसे-तैसे हकीकत सामने आई तो मामला चौंकाने वाला था. मध्य प्रदेश के सतना जिले के एक 45 वर्षीय प्रतिष्टित व्यापारी आशीष सरावगी नामक युवक ने अभिषेक जैन नाम से फेक आईडी बनाकर पहले तो रायपुर के दो प्रतिष्ठित परिवार की महिलाओं को निशाना बनाया उनसे दोस्ती करके उन्हें अश्लील मैसेज और ब्लैकमेलिंग शुरू कर दी. जब महिलाओं ने ये बात घर मे बताई तो घर मे रिस्ते खराब होने की नौबत आ गई. 

काफी खोजबीन के बाद फेक आई डी चलाने वाले युवक का पता लगा जो सतना का आशीष सरावगी निकला. युवक रायपुर की किसी महिला की फेसबुक आईडी हैक करके 1500 से अधिक महिला की जिंदगी से खेल रहा था. गुरुवार की शाम रायपुर के व्यापारियो की शिकायत पर छत्तीसगढ़ पुलिस सतना पहुंची और आशीष सरावगी के चौक बाजार स्थित घर व दुकान में दबिश दी, लेकिन आरोपी व्यापारी सतना के निजी अस्पताल में भर्ती रहा. लिहाजा पुलिस को बेरंग लौटना पड़ा. पूरे मामले में छत्तीसगढ़ पुलिस ने आशीष सरावगी के खिलाफ साइबर क्राइम के तहत मामला कायम कर एक हफ्ते के अंदर रायपुर थाने में उपस्थित होने का अल्टीमेटम दिया है.

देखें लाइव टीवी

सोशल मीडिया पर फर्जी खबरों का प्रसार बढ़ने के बाद श्रीलंका ने प्रस्तावित किया नया कानून

पूरे मामले में पीड़ित परिवार के साथ छत्तीसगढ़ राज्य से रायपुर पुलिस भी सतना पहुंची थी, जो आरोपी के खिलाफ साइबर क्राइम के तहत मामला दर्ज कर सारा दिन आरोपी के घर व दुकान की खाक छानती रही, लेकिन आरोपी युवक ने खुद को बीमार साबित कर एक निजी अस्पताल में भर्ती कर रखा था. जिसके चलते छत्तीसगढ़ पुलिस को खाली हाथ लौटना पड़ा. हालांकि, यह कोई पहला मामला नहीं था, जब सोशल मीडिया के जरिए लोगों के साथ ठगी, ब्लैकमेलिंग या ऐसे ही अन्य क्राइम सामने आए हों. अक्सर ही लोगों के सामने सोशल मीडिया से संबंधित मामले सामने आते रहे हैं.