MP: CAA का समर्थन करने वाली बसपा विधायक पर गिरी गाज, मायावती ने किया निलंबित

पथरिया सीट से बसपा (BSP) विधायक रामबाई परिहार को बसपा सुप्रीमो मायावती ने पार्टी से निलंबित कर दिया है.

MP: CAA का समर्थन करने वाली बसपा विधायक पर गिरी गाज, मायावती ने किया निलंबित
रामबाई परिहार ने केंद्र सरकार के नागरिकता संशोधन कानून (CAA) का समर्थन किया था.

भोपाल: मध्य प्रदेश (Madhya Pradesh) के दमोह की पथरिया सीट से बसपा (BSP) विधायक रामबाई परिहार को बसपा सुप्रीमो मायावती ने पार्टी से निलंबित कर दिया है.

दरअसल, रामबाई परिहार ने केंद्र सरकार के नागरिकता संशोधन कानून (CAA) का समर्थन किया था.

मायावती ने ट्वीट कर कहा कि ''बसपा अनुशासित पार्टी है व इसे तोड़ने पर पार्टी के सांसदों और विधायकों आदि के विरूद्ध भी तुरन्त कार्रवाई की जाती है. इसी क्रम में मध्यप्रदेश में पथेरिया से बसपा विधायक रमाबाई परिहार द्वारा CAA (नागरिकता संशोधन कानून) का समर्थन करने पर उनको पार्टी से निलंबित कर दिया है. उनपर पार्टी कार्यक्रम में भाग लेने पर भी रोक लगा दी गई है.

वहीं, पार्टी से निलंबन के बाद विधायक रामबाई परिहार ने जी मध्य प्रदेश छत्तीसगढ़ से खास बातचीत में कहा ''जो सही था वो मैंने कहा, वो (मायावती) पार्टी अध्यक्ष हैं, कुछ भी कर सकती हैं. मैं उनसे मिलूंगी, उन्हें गलत लगा तो उनसे माफी मांगूंगी. मैं BSP में थी, हूं और रहूंगी''. 

बता दें कि कल दमोह में रामबाई ने सीएए का समर्थन करते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, गृह मंत्री अमित शाह और केंद्रीय मंत्री प्रह्लाद पटेल का आभार जताते हुए कानून को सही करार दिया था. और कहा था कि ये कानून पहले आ जाना चाहिए था.

इस बयान के बाद बसपा सुप्रीमो मायावती ने रामबाई को पार्टी से निलंबित कर दिया है. रामबाई ने कहा कि मायावती भले ही उन्हें पार्टी से निकाल दें. लेकिन वो हमेशा पार्टी के साथ रहेंगी. सफाई देते हुए रामबाई ने कहा कि उन्होंने अपनी नजर में कुछ गलत नहीं किया है. फिर भी यदि ये बयान पार्टी से अलग है तो वो माफी चाहती हैं.

उधर, निलंबित बसपा विधायक के पक्ष में इलाके के बीएसपी कार्यकर्ता मैदान में हैं. पार्टी के जिलाध्यक्ष ने विधायक का समर्थन करते हुए कहा कि बयान को तोड़ मरोड़ कर पेश किया गया और इसके लिए वो बसपा सुप्रीमो से अपील करते हैं कि विधायक रामबाई को वो माफ करें.