close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

अतिवृष्टि से सड़कों को हुए नुकसान को लेकर हुई बैठक, CM कमलनाथ बोले, 'नवंबर तक पूरा हो काम'

बैठक में सीएम ने क्षतिग्रस्त सड़कों की मरम्मत को प्राथमिकता देने के निर्देश दिए. साथ ही क्वालिटी का ध्यान रखने को भी कहा गया है. 

अतिवृष्टि से सड़कों को हुए नुकसान को लेकर हुई बैठक, CM कमलनाथ बोले, 'नवंबर तक पूरा हो काम'
(फाइल फोटो)

भोपाल: मध्य प्रदेश (Madhya Pradesh) में नवंबर तक अतिवृष्टि (Hailstorm) से क्षतिग्रस्त हुई सड़कों की मरम्मत का काम पूरा हो जाएगा. गुरुवार को मंत्रालय में सीएम कमलनाथ (Kamal Nath) की अध्यक्षता में बैठक हुई, जिसमें लोक निर्माण मंत्री सज्जन सिंह वर्मा (Sajjan Singh Verma) और पंचायत एवं ग्रामीण विकास मंत्री कमलेश्वर पटेल (Kamleshwar Patel) के साथ ही मुख्य सचिव एसआर मोहंती समेत कई अधिकारी शामिल हुए. बैठक में बारिश (Rains) की वजह से क्षतिग्रस्त हुई सड़कों के सुधार कार्य की प्रगति की समीक्षा की गयी.

बैठक में सीएम ने क्षतिग्रस्त सड़कों की मरम्मत को प्राथमिकता देने के निर्देश दिए. साथ ही क्वालिटी का ध्यान रखने को भी कहा गया. बैठक में मुख्यमंत्री ने मरम्मत कार्य में आधुनिक तकनीक के इस्तेमाल करने और जरूरत पड़ने पर दूसरे प्रदेश में सड़क निर्माण कार्य का अध्ययन करने को भी कहा गया. बैठक में तय किया जाएगा कि भारी बारिश से क्षतिग्रस्त सड़कों के निर्माण की हर हफ्ते समीक्षा की जाएगी और नवंबर तक निर्माण कार्य पूरा किया जाएगा.

लाइव टीवी देखें

जानकारी के मुताबिक,  प्रदेश में पीडब्ल्यूडी की 5954 किलोमीटर सड़कें क्षतिग्रस्त हुईं, जिसमें राष्ट्रीय राजमार्ग की 199 किमी, राजमार्ग 786 किमी, जिला स्तर की 1,787 किमी और अन्य 3,282 किमी सड़कों को भारी बारिश के कारण नुकसान पहुंचा है. बारिश के कारण 1,015 पुल-पुलिया क्षतिग्रस्त हुई हैं. नगरीय क्षेत्रों की 3,800 किमी की सड़कों को क्षति पहुंची है. ग्रामीण क्षेत्रों की 82,173 किमी सड़कों का रख-रखाव किया जाना है.