जयस संगठन पर विवादित बयान के लिए मंत्री उषा ठाकुर ने मांगी माफी

पिछले दिनों मंत्री ठाकुर ने अपने विधानसभा क्षेत्र में आयोजित एक कार्यक्रम के दौरान आदिवासी सामाजिक संगठन जयस को देश विरोधी संगठन बताया था. जिसके बाद जयस संगठन के कार्यकर्ताओं में आक्रोश पैदा हो गया था.

जयस संगठन पर विवादित बयान के लिए मंत्री उषा ठाकुर ने मांगी माफी
अपने विवादित बयान पर मंत्री उषा ठाकुर ने मांगी माफी

धार: मध्य प्रदेश सरकार में संस्कृति एवं पर्यावरण मंत्री उषा ठाकुर ने जयस संगठन पर की विवादित टिप्पणी के लिए माफी मांगी है. मंत्री उषा ठाकुर ने मीडिया के सामने माफी मांगते हुए कहा, "आदिवासी भाइयों के साथ सदैव खड़ी हूं. आदिवासी विकास और महू विधानसभा क्षेत्र के आदिवासी भाइयों के उत्थान के लिए मैंने सदैव समर्पित भाव से काम किया और आगे भी करती रहूंगी. यदि किसी भी बयान से आदिवासी भाइयों की भावनाओं को ठेस पहुंची है तो उसके लिए क्षमाप्रार्थी हूं.''

दरअसल पिछले दिनों मंत्री ठाकुर ने अपने विधानसभा क्षेत्र में आयोजित एक कार्यक्रम के दौरान आदिवासी सामाजिक संगठन जयस को देश विरोधी संगठन बताया था. जिसके बाद जयस संगठन के कार्यकर्ताओं में आक्रोश पैदा हो गया था. इतना ही नहीं सोमवार को जयस संगठन के कार्यकर्ताओं ने कलेक्टर को ज्ञापन सौंप उषा ठाकुर के विरुद्ध कार्रवाई की मांग की थी. 

ये भी पढ़ें-एक्सपायर हो चुके चॉको केक को रीपैकिंग कर बेचते थे, लाखों का माल जब्त

जयस संगठन का कहना था कि मंत्री उषा ठाकुर ने आदिवासी समाज के कार्यकर्ताओं के विरुद्ध दुर्भावनापूर्ण दुष्प्रचार की नियत से इस तरह का बयान दिया है. संगठन ने  मंत्री उषा ठाकुर से सार्वजनिक तौर पर माफी मांगने और उनके विरुद्ध एट्रोसिटी एक्ट के तहत मामला दर्ज करने की मांग की थी. साथ ही मांग पूरी ना होने पर प्रदेश स्तर पर उग्र आंदोलन की चेतावनी भी दी थी.

बता दें कि जयस के समर्थन में कांग्रेस भी उतर आई थी. नेता प्रतिपक्ष कमलनाथ भी धरने पर बैठ गए. कमलनाथ के साथ कांग्रेस विधायक और जयस नेता हीरालाल अलावा भी धरने पर बैठे. कांग्रेस ने सरकार से मंत्री ठाकुर को बर्खास्त करने की मांग भी की. 

Watch LIVE TV-