जहर खाने से नाबालिग की मौत! प्रेमी को आरोपी बताकर ग्रामीणों ने किया हंगामा, पथराव

देर रात नाबालिग युवती का शव रतलाम लाया गया, जहां शव को पोस्ट मार्टम रूम में रखा गया. लेकिन सुबह 11 बजे तक भी परिजन जिला अस्पताल नहीं पहुंचे जिस कारण पीएम नही करवाया जा सका.

जहर खाने से नाबालिग की मौत! प्रेमी को आरोपी बताकर ग्रामीणों ने किया हंगामा, पथराव
ग्रामीणों ने थाने के बाहर हंगामा किया

चंद्रशेखर सोलंकी/रतलामः शुक्रवार रात रतलाम जिले में नाबालिग युवती की जहर खाने से मौत हो गई थी. जानकारी मिलते ही परिजन, ग्रामीणों के साथ सरवन थाना पहुंचे. जहां उन्होंने युवती के नाबालिग प्रेमी पर हत्या का आरोप लगाते हुए तुरंत कार्रवाई की मांग की. कार्रवाई नहीं होते देख गुस्साए ग्रामीणों ने पुलिस स्टेशन के बाहर जमकर हंगामा व पथराव किया.

यह भी पढ़ेंः- एम्बुलेंस में जन्मी लक्ष्मीः मेडिकल स्टाफ ने बीच रास्ते करवाई सफल डिलीवरी, मां-बेटी दोनों स्वस्थ 

2 दर्जन से ज्यादा के खिलाफ मामला दर्ज
स्थिति को नियंत्रण में लेने के लिए पुलिस को बल प्रयोग करना पड़ा. यहां तक कि रतलाम जिले से पुलिस बल बुलाना पड़ा. अंत में पुलिस ने कार्रवाई करते हुए हंगामा करने वाले आदिवासी नेता कमलेश डोडियार सहित 13 नामजद और 14 अन्य लोगों के खिलाफ बलवा व अन्य धाराओं में मामला दर्ज कर लिया है.

थाने के गमले टूटे पड़े 

पुलिस कर रही पोस्टमार्टम रिपोर्ट का इंतजार
दरअसल, बीती रात एक नाबालिग युवती को अचेत अवस्था में सरवन स्वास्थ्य केंद्र पहुंचाया गया. जहां डॉक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया. ग्रामीणों ने प्रेमी को गिरफ्तार करने की मांग की. लेकिन पुलिस ने पोस्टमार्टम रिपोर्ट आने की बात कही. जिसके बाद परिजन अपनी मांग पर अड़ गए और स्टेशन के सामने 3 घंटे तक हंगामा किया. जो रात में उग्र हो गया और पुलिस को बल प्रयोग कर भीड़ को तीतर बितर करना पड़ा. रतलाम जिला पुलिस की मदद से भीड़ को किसी तरह नियंत्रण में लाने की कोशिश की गई.

यह भी पढ़ेंः- CM योगी को पसंद आयी ग्वालियर की गौशाला, अब मंत्री को भेजकर समझेंगे मैनेजमेंट 

पीएम लेने नहीं पहुंचे परिजन
शुक्रवार देर रात नाबालिग का शव रतलाम अस्पताल में ही पीएम के लिए रखा गया था. लेकिन परिजन आज सुबह 11 बजे तक भी जिला अस्पताल नहीं पहुंचे, जिस कारण शव का पोस्ट मार्टम नहीं करवाया जा सका.

पुलिस वाहन के अंदर भी पत्थरबाजी के निशान दिखे

2 दिन से लापता थी नाबालिग
रतलाम एसपी गौरव तिवारी ने बताया कि नाबालिग मृतिका जिले के बाजना थाना क्षेत्र की रहने वाली है. ग्रामीणों ने बताया कि वह 2 दिन से लापता थी. जब मृतक नाबालिग को पीएम के लिए ले जाया जा रहा था. तभी कमलेश डोडियार ने कुछ साथियों के साथ मिलकर पुलिस स्टेशन के बाहर हंगामा खड़ा किया. उन्होंने 302 व 376 के तहत मामला दर्ज करने की मांग करते हुए पुलिस व वाहनों पर पथराव कर दिया.

यह भी पढ़ेंः- कारनामा कन्टीन्यूः ठेला धकेलते मिले ऊर्जा मंत्री तो चौंक गए सुबह की सैर पर निकले लोग, VIDEO हो रहा वायरल

हंगामे पर एक्शन लेते हुए पुलिस ने 3 लोगों को हिरासत में लिया है. वहीं कमलेश डोडियार सहित 13 नामजद पर प्रकरण दर्ज करने के साथ ही 14 अन्य लोगों पर भी मामला दर्ज किया गया है. एसपी का कहना है कि नाबालिग का पोस्टमार्टम करवाया जा रहा है. पीएम रिपोर्ट आते ही मामले में कार्रवाई की जाएगी.

30 दिसंबर को प्रेमी के साथ थी युवती
जानकारी मिली है कि नाबालिग मृतिका सैलाना गांव में पढ़ाई करती थी और हर दिन पढ़ाई के लिए घर से निकल जाया करती थी. वह 30 दिसंबर को भी घर से बैग लेकर निकली थी. लेकिन सैलाना गांव जाने के बजाय वह एक युवक के साथ सरवन गांव चली गयी. उसी युवक ने सरवन थाने में नाबालिग युवती के जहर खाने की सूचना दी थी.

जिसके बाद पुलिस नाबालिग को लेने युवक के घर पहुंची. उस वक्त युवती कुछ बोल पा रही थी और जीवित भी थी. जिसे पुलिस ने इलाज के लिए स्वास्थ्य केंद्र भेजा, लेकिन वहां डॉक्टर ने उसे मृत घोषित कर दिया. जानकारी में सामने आया है कि युवती ने शुक्रवार देर रात जहर खाया था. यह भी बताया जा रहा है कि नाबालिग युवती का युवक के साथ प्रेम संबंध था और युवक भी नाबालिग है.

ये भी पढ़ेः- 

हैप्पी बर्थ डे राहत इंदौरी: किसने कहा था राहत इंदौरी से कि " पहले तो 5 हजार शेर याद कर लो, फिर शायर बनना''

कोरोना के डर से पीपीई किट पहनकर कोविड वार्ड में घुसा चोर, एलईडी टीवी उठा ले गया

मोहन भागवत ने महात्मा गांधी को बताया सबसे बड़ा हिंदू देशभक्त, कहा-उनका दर्शन आज भी प्रासंगिक

WATCH LIVE TV