राम मंदिर निर्माण के लिए CM शिवराज ने सौंपा 1 लाख का चेक, बोले- मानव जीवन सफल हुआ

धनसंग्रह के लिए राम मंदिर ट्रस्ट की ओर से 10 रुपए से लेकर 2000 रुपए तक के कूपन जारी हुए हैं. जबकि 20000 रुपए तक का सहयोग नगद और इससे अधिक राशि चेक के जरिए ली जा रही है. यह अभियान करीब डेढ़ महीने तक चलेगा और इसके तहत देश भर में करीब 13 करोड़ के परिवारों तक पहुंचने का लक्ष्य रखा गया है.

राम मंदिर निर्माण के लिए CM शिवराज ने सौंपा 1 लाख का चेक, बोले- मानव जीवन सफल हुआ
मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान श्री राम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट के लोगों को एक लाख रुपए का चेक सौंपते हुए.

भोपालः अयोध्या में राम मंदिर निर्माण के लिए धन संग्रह अभियान की शुरुआत शुक्रवार से पूरे देश में हो  गई. मध्य प्रदेश में मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने इस अभियान की शुरुआत की. विश्व हिंदू परिषद के राष्ट्रीय संगठन महामंत्री और श्रीराम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट के निधि समर्पण अभियान के केंद्रीय सह अभियान प्रमुख विनायक राव शुक्रवार सुबह 10 बजे सीएम हाउस पहुंचे.

यहां मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने उन्हें अयोध्या में राम मंदिर निर्माण के लिए 1 लाख रुपए का चेक सौंपा. सीएम ने कहा, ''जीवन का सबसे सौभाग्य शाली दिन है. मानव जीवन सफल हो गया. राम मंदिर के लिए एक ईंट का योगदान परिवार को करने का मौका मिला. यह राम मंदिर असल में राष्ट्र मंदिर है.''

श्री राम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट ने इससे पहले ही मध्य भारत में 10 करोड़ रुपए से ज्यादा की राशि जुटा लिया है. धनसंग्रह के लिए राम मंदिर ट्रस्ट की ओर से 10 रुपए से लेकर 2000 रुपए तक के कूपन जारी हुए हैं. जबकि 20000 रुपए तक का सहयोग नगद और इससे अधिक राशि चेक के जरिए ली जा रही है. यह अभियान करीब डेढ़ महीने तक चलेगा और इसके तहत देश भर में करीब 13 करोड़ के परिवारों तक पहुंचने का लक्ष्य रखा गया है.

युद्ध के समय परमवीर चक्र, शांति के समय अशोक चक्र, जानिए कब मिलता है कौन सा मेडल ?

देश के 5 लाख 50 हजार गांवों तक पहुंचने की कोशिश
वीएचपी और श्री राम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट से जुड़े लोग देश भर के करीब 5 लाख 50 हजार गांवों तक पहुंचने की कोशिश करेंगे. इस दौरान करीब 13 करोड़ परिवारों से धन संग्रह का लक्ष्य रखा गया है. यानी एक तरह से औसतन एक परिवार में पांच लोग मानें जाएं तो इस डेढ़ महीने के दौरान करीब 65 करोड़ लोगों तक पहुंचने की तैयारी की गई है. इन पर्चियों पर अयोध्या में बनने वाले भव्य राम मंदिर की तस्वीर के साथ ही श्री राम की छवि भी मौजूद रहेगी. जो भी लोग इस अभियान के तहत पैसा देंगेए उनको ये रसीद दी जाएगी. वहीं 2 हजार से ज्यादा का योगदान करने वाले लोगों को एक अलग तरह की रसीद दी जाएगी जिससे वो आयकर छूट का फायदा भी उठा सकते हैं.

Indian Army की शौर्य गाथा की साक्षी हैं ये Photos, देखकर सीना गर्व से चौड़ा हो जाएगा!

राष्ट्रपति से दान लेकर संग्रह अभियान की शुरुआत
वीएचपी के राष्ट्रीय कार्यकारी अध्यक्ष आलोक कुमार ने जानकारी देते हुए बताया कि राम मंदिर धन संग्रह अभियान की शुरुआत राष्ट्रपति जो कि देश के प्रथम नागरिक माने जाते हैं उनसे मुलाकात के साथ हुई. राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने राम मंदिर निर्माण के लिए 5,00,100 रुपए दान किया. राष्ट्रपति से शुभकामनाएं लेने के लिए श्रीराम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट के कोषाध्यक्ष गोविंद देव गिरी जी महाराज, विहिप कार्याध्यक्ष एडवोकेट अलोक कुमार, राम मंदिर भवन निर्माण समिति के अध्यक्ष नृपेंद्र मिश्रा और राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के प्रांत संघचालक कुलभूषण आहूजा दिल्ली स्थित राष्ट्रपति भवन पहुंचे थे.

भारतीय सेना में होना चाहते हैं भर्ती? जानिए 12वीं और ग्रेजुएशन के बाद हैं क्या-क्या रास्ते

साल 2024 तक अयोध्या में भव्य राम मंदिर निर्माण का लक्ष्य
आलोक कुमार के मुताबिक इस अभियान के तहत देश में करोड़ों लोगों तक पहुंचने की कोशिश की जाएगी. ऐसे में उन करोड़ों लोगों में विपक्षी दलों के नेता से लेकर समाज के अलग.अलग क्षेत्रों से आने वाले लोगों से राम मंदिर के निर्माण के लिए धन संग्रह और योगदान के लिए संपर्क किया जाएगा. कोशिश यही है की मंदिर का निर्माण ऐसा हो जो हजारों सालों तक याद रखा जाए. राम मंदिर का निर्माण साल 2024 तक पूरा करने का लक्ष्य रखा गया है. उम्मीद है श्रद्धालु अयोध्या में साल 2024 में भव्य राम मंदिर में पहुंचकर रामलला विराजमान के दर्शन कर सकेंगे.

WATCH LIVE TV