close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

मुरैना: भाई खेल रहा था पबजी गेम, बहन ने छीना मोबाइल तो लगा ली फांसी

गेम खेलने में व्यस्त रचित से जब उसकी बहन ने मोबाइल छीन लिया तो उनके बीच झगड़ा हो या जिसके बाद रचित ने फांसी लगाकर अपनी जीवन इहलीला समाप्त कर ली.

मुरैना: भाई खेल रहा था पबजी गेम, बहन ने छीना मोबाइल तो लगा ली फांसी
इकलौते बेटे की मौत के बाद पिता ने रचित की आंखों को डोनेट करने का फैसला लिया

मुरैना: मुरैना जिले में एक और छात्र पबजी वीडियो गेम की बलि चढ़ गया है. वीडियो गेम की लत बढ़ती जा रही है. उससे उनका बचपन छिन चुका है. कई मामलो में बच्चे अपनी जान गंवा चुके हैं. ताजा मामला कोतवाली थाना क्षेत्र की पराग ऑयल मिल के पास का है जहां पर आज 18 साल के रचित अग्रवाल ने फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली. रचित और उसकी बहन घर में अकेले थे.

गेम खेलने में व्यस्त रचित से जब उसकी बहन ने मोबाइल छीन लिया तो उनके बीच झगड़ा हो या जिसके बाद रचित ने फांसी लगाकर अपनी जीवन इहलीला समाप्त कर ली. इकलौते बेटे की मौत के बाद पिता ने रचित की आंखों को डोनेट करने का फैसला लिया जिससे कम से कम उनके बेटे की आंखें ही इस दुनिया को देख सके.

LIVE टीवी:

अपने इकलोते बेटे की जान तो परिवार नहीं बचा पाया लेकिन उसकी आंखों को डोनेट कर एक प्रयास जरूर किया है कि बेटे की आंखों के सहारे किसी ओर के जीवन में रोशनी आ सके. घटना के बाद डॉक्टरों के समझाने पर परिवार तैयार हुआ और ग्वालियर से आई डॉक्टरों की टीम ने नेत्र दान की प्रक्रिया को पूरा किया. इन आंखों से दो लोगों के जीवन में रोशनी आ सकेगी.