ग्वालियर: पुलिस से नहीं मिली मदद, मंत्री के पैरों में गिरी नाबालिग बेटी को तलाश रही मां

पीड़ित महिला का कहना है कि आज यानी रविवार को जब महिला थाने में गई और अपनी बेटी को तलाशने के लिए गुहार की तो, पुलिस वालों ने उसे भगा दिया.

ग्वालियर: पुलिस से नहीं मिली मदद, मंत्री के पैरों में गिरी नाबालिग बेटी को तलाश रही मां
मंत्री ने महिला से पूरी घटना पूछी उसके बाद पुलिस के आला अधिकारियों को मामले में जल्द कार्रवाई करने के निर्देश दिए.

कर्ण मिश्र/ग्वालियर: ग्वालियर में अपनी लापता नाबालिग बेटी को तलाशने में जुटी एक महिला रविवार को कमलनाथ सरकार के मंत्री प्रद्युम्न सिंह तोमर के पैरों में गिर पड़ी. महिला का कहना है कि पुलिस ने उसकी मदद नहीं की. इसी के चलते पीड़ित मां कैबिनेट मंत्री के पैरों में गिरकर गुहार करने लगी. ग्वालियर किला गेट थाना इलाके में रहने वाली एक महिला की 15 वर्षीय नाबालिग बेटी लापता हो गई है. महिला शनिवार को पुलिस थाने पहुंची, तो पुलिस ने सिर्फ आवेदन लेकर महिला को रविवार को आने का बोला.

पीड़ित महिला का कहना है कि आज यानी रविवार को जब महिला थाने में गई और अपनी बेटी को तलाशने के लिए गुहार की तो, पुलिस वालों ने उसे भगा दिया. दुखी महिला थाने से निकली, तो सामने कैबिनेट मंत्री प्रद्युम्न सिंह तोमर एक चल समारोह में शामिल होने के लिए आए थे. मंत्री को देखते ही दुखी मां मंत्री तोमर के पैरों में गिर गई और उन से गुहार करने लगी. मंत्री ने महिला से पूरी घटना पूछी उसके बाद पुलिस के आला अधिकारियों को मामले में जल्द कार्रवाई करने के निर्देश दिए. साथ ही मंत्री ने सामने स्थित थाने के स्टाफ को मौके पर बुलाकर फटकार लगाई और महिला की बेटी को तलाशने के लिए हिदायत दी.