एमपी : ग्वालियर में पकड़ा गया EVM हैकर, इस पार्टी को जिताने का किया था दावा

हैकर ने भिंड जिले के कांग्रेस प्रत्याशी रमेश दुबे को ईवीएम मशीन हैक कर चुनावों में जीत का भरोसा दिलाया था. हैकर ने कहा था कि वह एक चिप के जरिए ईवीएम को हैक कर देगा.

एमपी : ग्वालियर में पकड़ा गया EVM हैकर, इस पार्टी को जिताने का किया था दावा

इंदौर (करण मिश्रा) : मध्य प्रदेश के विधानसभा चुनाव में जहां कांग्रेस की ओर से ईवीएम की सुरक्षा पर सवाल खड़े किए जा रहे है वहीं इसका फायदा अब तथाकथित हैकर भी उठाने लगे हैं. ऐसा ही एक मामला ग्वालियर जिले से समाने आय़ा है. जहां एक हैकर ने ईवीएम को हैक करने के लिए कांग्रेस के प्रत्याशी को झांसा दिया है. कांग्रेस प्रत्याशी और हैकर में कई दौर में बातचीत भी हुई, लेकिन एक संदेह से हैकर की कलई खुल गई जिसके बाद अब वह सलाखों के पीछे है.

जानकारी के मुताबिक हैकर ने भिंड जिले के कांग्रेस प्रत्याशी रमेश दुबे को ईवीएम मशीन हैक कर चुनावों में जीत का भरोसा दिलाया था. हैकर ने कहा था कि वह एक चिप के जरिए ईवीएम को हैक कर देगा. साथ ही जब ईवीएम से काउंटिग होगी, तो रिजल्ट कांग्रेस के पक्ष में आने लगेगें. हैकर की बात पर भरोसा करने के बाद कांग्रेस प्रत्याशी ने उसे मिलने के लिए ग्वालियर बुला लिया.

ईवीएम हैक करने के लिए मांगे ढाई लाख 
ईवीएम को हैक करने वाला अभय जोशी अपने आपको बैंगलूर का रहने वाला बता रहा था. साथ ही कांग्रेस के प्रत्याशी रमेश दुबे से एक ईवीएम को हैक करने के एवज में ढ़ाई लाख रूपए की मांग कर रहा था. इस संबंध में हैकर और रमेश दुबे के बीच बातचीत लगभग दो दिनों से चल रही थी. लेकिन रमेश दुबे को जब संदेह हुआ तो उसने पुलिस को हैकर के बारे में बताकर उसे गिरफ्तार करवाया. दुबे ने बताया कि स्टेशन पर जोशी उनसे मिला और पुलिस को साथ देखते ही वहां से भागने का प्रयास किया, लेकिन सफल नहीं हो सका. पुलिस उसे पड़ाव थाने लेकर आ गई.

उत्तर प्रदेश का निवासी है हैकर-पुलिस
पुलिस के मुताबिक हैकर अभय जोशी से पूछताछ की जा रही है. पुलिस का कहना है कि अभय जोशी कोई हैकर नहीं बल्कि एक ठग है और सिर्फ 12वीं पास है. पुलिस ने बताया कि हैकर बैंगलुरु का नही है, बल्कि वह उत्तर प्रदेश के जालौन का रहने वाला है.