close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

MP: जर्जर भवन में चल रहा है सरकारी स्कूल, कई बार शिकायत के बाद भी नहीं हुई कार्रवाई

मध्य प्रदेश के बलरामपुर में सरकारी स्कूल के बच्चे जर्जर भवन के नीचे अपनी जान को जोखिम में डालकर पढ़ाई करने पर मजबूर हैं, लेकिन कई बार शिकायत करने के बाद भी जिला प्रशासन की नींद नहीं खुली है. 

MP: जर्जर भवन में चल रहा है सरकारी स्कूल, कई बार शिकायत के बाद भी नहीं हुई कार्रवाई

शैलेंद्र सिंह, बलरामपुरः मध्य प्रदेश के बलरामपुर में सरकारी स्कूल के बच्चे जर्जर भवन के नीचे अपनी जान को जोखिम में डालकर पढ़ाई करने पर मजबूर हैं, लेकिन कई बार शिकायत करने के बाद भी जिला प्रशासन की नींद नहीं खुली है. कुशमी विकासखंड का डूमर गांव में चलने वाली प्राथमिक शाला की दीवारें जर्जर हो चुकी हैं, वहीं छत की हालत ऐसी कि वो कभी भी गिर सकती है. स्कूल भवन में हर तरफ दरारें नजर आती हैं, लेकिन इन सब के बावजूद परिजन अपने बच्चों को इस स्कूल में पढ़ाने को मजबूर हैं, क्योंकि प्रशासन का इस ओर कोई ध्यान नहीं है.

इस प्राथमिक शाला में करीब 100 बच्चे रोज पढ़ने आते हैं.  ऐसे में हर समय बड़े हादसे की आशंका बनी रहती है. मामले पर शिक्षकों का कहना है कि उन्होंने कई बार स्कूल भवन की स्थिति को लेकर प्रशासन से शिकायत की, लेकिन इन सब के बाद भी आज तक शिक्षा विभाग का कोई अधिकारी जांच करने नहीं आया है. वहीं जिला शिक्षा अधिकारी जर्जर हो चुके स्कूल की मरम्मत करवाने और नए स्कूल की बिल्डिंग की स्वीकृति की बात कर रहे हैं.

देखें LIVE TV

छत्तीसगढ़ः शिक्षा के लिए जान जोखिम में डाल रहे हैं यहां के बच्चे, उफनती नदी पार करके जाते हैं स्कूल

बता दें जिले के कुशमी विकासखंड के डूमर गांव में चल रहे इस स्कलू का भवन काफी जर्जर हो चुका है. स्कूल की पूरी छत का प्लास्टर टूट-टूट कर गिर चुका है, लेकिन इसके बाद भी शिक्षक भी यहां बच्चों को पढ़ाने को मजबूर हैं. ऐसे में हर समय यहां बड़े खतरे की आशंका बनी रहती है. स्कूल के शिक्षक इसकी शिकायत कई बार अपने उच्च अधिकारियों को दे चुके हैं, लेकिन बड़े अधिकारी शायद कोई बड़े हादसे का इंतजार कर रहे हैं. शिक्षक ने बताया की उनके स्कूल में विभाग का कोई उच्चाधिकारी कभी जांच करने के लिए भी नहीं आते हैं.