close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

पुलिस पूछेगी 3 सवाल और पता चल जाएगा कितनी मात्रा में पी है शराब, जानिए पूरी खबर

एक ब्रीथ एनालाइजर मशीन की कीमत करीब 41 हजार रुपये है. इस मशीन में वाईफाई और ब्लूटूथ है. 

पुलिस पूछेगी 3 सवाल और पता चल जाएगा कितनी मात्रा में पी है शराब, जानिए पूरी खबर
पायलट प्रॉजेक्ट के तहत यह एनालाइजर भोपाल पुलिस को दिए गए हैं. (प्रतीकात्मक फोटो)

भोपाल: सड़क हादसों के लिए सबसे जिम्मेदार कारण है शराब पीकर वाहन चलाना. कई रिपोर्ट बताती हैं कि प्रदेश में हादसों का सबसे बड़ा कारण शराब पीकर वाहन चलाना है. इसे लेकर अब मध्य प्रदेश पुलिस अलर्ट हो गई है. अब शराब पीकर वाहन चलाने वालों की खैर नही होगी. एमपी पुलिस ने  अत्याधुनिक तकनीक से लैस अल्कोहल ब्रीथ एनालाइजर अपने पुलिस अमले के हाथों में सौप दिए हैं. पायलट प्रॉजेक्ट के तहत यह एनालाइजर भोपाल पुलिस को दिए गए हैं. इन एनालाइजर के जरिये अब शराबी ड्राइवर का फोटो भी लिया जा सकेगा. अल्कोहल की रिपोर्ट में फोटो सहित पूरी जानकारी आएगी. उस आधार पर चलान बनाया जाएगा और जरूरत पड़ने पर ड्राइविंग लाइसेंस को सस्पेंड भी किया जा सकता है.

पुलिस पूछेगी सिर्फ तीन सवाल और पता लग जाएगा कि शराब पी है या नही 
पहला सवाल- तुम्हारा नाम क्या है? 
दूसरा सवाल- तुम कहां से आ रहे हो? 
तीसरा सवाल- तुम कहां जा रहे हो? 

पुलिस कर्मी को चेकिंग के दौरान वाहन चालक के मुंह के सामने मशीन को करना होगा. उसे चालू करते ही तीन सवाल पूछना होगा. इन सवालों के जवाब देते ही मशीन में पॉजिटिव और निगेटिव आ जायेगा. पॉजिटिव आने के बाद पुलिस कर्मी वाहन चालक को मशीन के पाइप को फूंकने के लिए कहेगा. इससे मशीन में शराब पीने की मात्रा आ जायेगी. एक रिपोर्ट मशीन से प्रिंट होकर आएगी, जिसमें शराब पीने की मात्रा, तीन सवालों के जवाब और वाहन चालक का फोटो प्रिंट होगा. रिपोर्ट के आधार पर शराबी वाहन चालक के खिलाफ मोटर व्हीकल एक्ट के तहत कार्यवाही होगी. भोपाल पुलिस को बाकायदा ट्रेनिंग देकर अल्कोहल ब्रीथ एनालाइजर को कैसे उपयोग करना है यह सिखाया गया है.

 

एक ब्रीथ एनालाइजर मशीन की कीमत करीब 41 हजार रुपये है. इस मशीन में वाईफाई और ब्लूटूथ है. पुराने ब्रीथ एनालाइजर में यह सुविधाएं नही थीं. इसके चलते वाहन चेकिंग के दौरान हर व्यक्ति को मशीन के पाइप में फूंकना पड़ता था. जबकि नए एनालाइजर में सिर्फ पॉजिटिव आने वाले वाहन चालक को ही पाइप में फूंकना होगा, ताकि उसके शरीर मे मौजूद अल्कोहल की मात्रा का पता लगाया जा सके. 

भोपाल ट्रैफिक पुलिस के डीएसपी प्रदीप चौहान का कहना है कि सड़क हादसों के लिए सबसे बड़ा जिम्मेदार कारण शराब पीकर वाहन चलाना है. शराब पीकर वाहन चलाने वाले वाहन चालक सबसे ज्यादा एक्सिडेंट के शिकार होते हैं. आधुनिक अल्कोहल ब्रीथ एनालाइजर से ऐसे लोगो पर कार्यवाही करने में मदद मिलेगी.