ग्वालियर: कांग्रेस नेता और उनके दो बेटों पर दर्ज हुआ धोखाधड़ी का केस, जानिए पूरा मामला

शशिकांत ने महलगांव में रहने वाले रसूखदार कांग्रेस नेता संजय शर्मा पर प्लॉट बेचने के नाम पर लगभग दस लाख रुपये की ठगी करने का आरोप लगाया है.

ग्वालियर: कांग्रेस नेता और उनके दो बेटों पर दर्ज हुआ धोखाधड़ी का केस, जानिए पूरा मामला
फिलहाल पुलिस ने आरोपी कांग्रेस नेता संजय शर्मा और उसके दो बेटों के खिलाफ धोखाधड़ी की धाराओं के तहत मामला दर्ज कर लिया है.

कर्ण मिश्रा/ग्वालियर: अक्सर कांग्रेस के राष्ट्रीय महासचिव ज्योतिरादित्य सिंधिया सहित सूबे के कई मंत्रियों के करीब नजर आने वाले रसूखदार कांग्रेस नेता संजय शर्मा और उनके दो बेटों पर ग्वालियर पुलिस ने धोखाधड़ी का मामला दर्ज किया है. संजय व उनके बेटों पर आरोप है कि उन्होंने जमीन बेचने के नाम पर एक विकलांग सरकारी शिक्षक से करीबन 10 लाख रुपये की धोखाधड़ी की है. इतना ही नहीं शिकायतकर्ता के थाने पहुंचने की सूचना लगने पर थाने पहुंचकर फरियादी को अपने रसूख का रौब दिखाकर धमकाने का भी आरोप लगा है.

दरसअल, ग्वालियर के गोला का मंदिर स्थित रणधीर कॉलोनी में रहने वाले शशिकांत पाराशर विकलांग हैं और पेशे से सरकारी शिक्षक हैं. शशिकांत ने महलगांव में रहने वाले रसूखदार कांग्रेस नेता संजय शर्मा पर प्लॉट बेचने के नाम पर लगभग दस लाख रुपये की ठगी करने का आरोप लगाया है. फरियादी शशिकांत का कहना है कि 29 सितंबर को जनसुनवाई में उन्होंने एसपी से शिकायत की थी कि अनुबंध के आधार संजय शर्मा ने उन्हें विवादित सरकारी जमीन बेच दी है. इसके लिए उन्होंने दस लाख रुपये की रकम में कुछ कैश दिया और कुछ का भुगतान चेक से किया. कई बार रकम वापस मांगने पर संजय उन्हें टाल रहे हैं.

इसी के चलते उन्होंने गोला का मंदिर थाने पहुंचकर आरोपी संजय और उनके दोनों बेटों के खिलाफ धोखाधड़ी की शिकायत दर्ज करवाई है. वहीं, शशिकांत के थाने पहुंचने की भनक लगते ही संजय भी अपने रिश्तेदारों के साथ थाने पहुंच गए. बकौल शशिकांत, संजय ने अपने रसूख का रौब दिखाकर मामला वापस लेने का भी दबाब बनाया, लेकिन तब तक प्रकरण दर्ज हो चुका था. उधर पुलिस ने संजय के खिलाफ पुख्ता प्रमाण मिलने के बाद ही मामला दर्ज किया है. क्योंकि, मामला कांग्रेस नेता से जुड़ा है और सत्ता में कांग्रेस है.

फिलहाल पुलिस ने आरोपी कांग्रेस नेता संजय शर्मा और उसके दो बेटों के खिलाफ धोखाधड़ी की धाराओं के तहत मामला दर्ज कर लिया है और विवेचना शुरू कर दी है. मामले में अभी कोई गिरफ्तारी नहीं हुई है. पुलिस का कहना है कि मामले की जांच करने के बाद आगे की कार्यवाही की जाएगी.