मप्रः कुंडालिया डैम का बढ़ा जलस्तर, डूब की कगार पर खेत और मकान

 बांध क्षेत्र में पहली बार रोके गए पानी का लेवल बढ़ जाने से नलखेड़ा तहसील क्षेत्र के किसानों के खेतों और घरों में में बांध का पानी भरने लग गया है.

मप्रः कुंडालिया डैम का बढ़ा जलस्तर, डूब की कगार पर खेत और मकान
कैचमेंट एरिया में बारिश के चलते बढ़ा बांध का जलस्तर (प्रतीकात्मक तस्वीर)

नई दिल्लीः आगर मालवा व राजगढ़ जिले की सीमा पर 3468 करोड़ लागत की निर्माणाधीन वृहद कुंडालिया डैम परियोजना का कार्य अभी पूरा भी नहीं हुआ है कि इसके पहले ही बांध क्षेत्र में पहली बार रोके गए पानी का लेवल बढ़ जाने से नलखेड़ा तहसील क्षेत्र के किसानों के खेतों और घरों में में बांध का पानी भरने लग गया है. जिससे आस-पास के क्षेत्र का जनजीवन अस्त-व्यस्त हो गया है. बांध का वाटर लेबल बढ़ जाने से इन प्रभावित गावों के चारों ओर पानी ही पानी दिखाई पड़ रहा है. ऐसी गंभीर व भयावह स्थिति में कई ग्रामीण अपने पूरे मुआवजे की मांग को लेकर डट गए हैं. बता दें कुंडालिया बांध परियोजना की मानीटरिंग केंद्र सरकार द्वारा की गई थी. वहीं इसके लिए प्रभावित गांवों का सर्वे उच्च तकनीकी के साथ परियोजना अधिकारियों की टीम व राजस्व टीम के द्वारा सैकड़ों बार गांव में जाकर किया गया था, लेकिन कुंडलिया डेम का काम अभी पूरा भी नहीं हुआ है कि आस-पास के गांवों के लोग परेशान होने लगे हैं.

डेम में पानी निकलने की सही व्यवस्था नहीं
बता दें कुंडालिया डेम प्रभावित लोगों का अभी पुनर्वास और मुआवजे का काम भी पूरा नहीं हुआ है और उसके पहले ही प्रभावित गांवों में डैम का पानी घरों व खेतों में आने लग गया है. दरअसल, नलखेड़ा तहसील क्षेत्र की कालीसिंधी और भाटन नदी में बारिश के चलते वॉटर लेवल बढ़ गया है वहीं कुंडलिया बांध में जल निकासी की सही व्यवस्था न होने से डूब प्रभावित इलाके पहले ही डूब की जकड़ में आ गए हैं. जिससे आम जनजीवन काफी प्रभावित हो रहा है.

बारिश के चलते कई गांवों का नलखेड़ा मुख्यालय से टूट रहा संपर्क
बता दें इलाके में लगातार हो रही बारिश के चलते इन प्रभावित गांवों को जोड़ने वाले रास्ते भी डूब जाने के कारण इन गांवों का संपर्क नलखेड़ा तहसील मुख्यालय से टूट रहा है. कुंडालिया बांध परियोजना के अंतर्गत निर्माणाधीन इंटकवेल लेवल तक पानी भर गया है. जिससे डूब प्रभावित गांवों में से गांव कोठडी, ढाबला का खेड़ा, भीलखेड़ी और पटना में चारों और से पानी भर गया है.

3468 करोड़ की लागत से बन रहा कुंडालिया बांध
बता दें नलखेड़ा तहसील के ग्राम गोठड़ा व राजगढ़ जिले की तहसील जीरापुर के बीच निर्माणाधीन कुंडालिया बांध परियोजना के अंतर्गत कालीसिंध नदी पर बनाए जा रहे इस बांध की लागत 3468 करोड़ है. जिसका कैचमेंट एरिया 4925 वर्ग किलोमीटर और डूब क्षेत्र एरिया 4776 वर्ग किलोमीटर है. वहीं आगर व राजगढ़ जिले के 400 गांवों में इस डैम से वाटर सप्लाई का कार्य भी किया जाएगा. इसी के साथ उद्योगों के लिए वाटर सप्लाई के लिए भी पानी रिजर्व रखा जाएगा.