बच्चे मन के सच्चे: 1800 स्कूलों के 3 लाख बच्चे बताएंगे, मम्मी-पापा ने वैक्सीन लगवाई या नहीं
X

बच्चे मन के सच्चे: 1800 स्कूलों के 3 लाख बच्चे बताएंगे, मम्मी-पापा ने वैक्सीन लगवाई या नहीं

भोपाल शहर के सभी स्कूलों में पढ़ने वाले छात्र छात्राओं के जरिए अभिभावकों के दोनों डोज लगाने वाले सर्टिफिकेट की जानकारी मांगने को कहा गया है.

बच्चे मन के सच्चे: 1800 स्कूलों के 3 लाख बच्चे बताएंगे, मम्मी-पापा ने वैक्सीन लगवाई या नहीं

भोपाल: मध्य प्रदेश में वैक्सीनेशन को लेकर अभियान चलाया जा रहा है. प्रदेश की राजधानी भोपाल जिले में वैक्सीन नहीं लगवाने पर सख्ती बरती जा रही है. भोपाल जिला प्रशासन चाहता है कि जिले के शत प्रतिशत लोगों को कोरोना से बचाने के लिए वैक्सीन के दोनों डोज लगवा लेने चाहिए. इसलिए जिला प्रशासन सख्ती बरत रहा है. इसी के चलते प्रशासन ने एक बड़ा फैसला लिया है.

MP में महिलाएं भी करेंगी धान खरीद केंद्रों का संचालन, शिवराज सरकार ने लिया फैसला

स्कूल के बच्चे बताएंगे वैक्सीन के बारे में
दरअसल भोपाल शहर के सभी स्कूलों में पढ़ने वाले छात्र छात्राओं के जरिए अभिभावकों के दोनों डोज लगाने वाले सर्टिफिकेट की जानकारी मांगने को कहा गया है. यानी अब अभिभावकों को बच्चों के जरिए यह लिखकर पहुंचाना होगा कि उनके दोनों डोज लग गई है और कब लगे हैं. इस काम को पूरा करने के लिए सोमवार का तक का समय दिया गया है.

1800 स्कूलों के 3 लाख बच्चे
बता दें कि जिला प्रशासन ने 31 दिसंबर तक जिले में सेकंड डोज लगाने का लक्ष्य रखा है. इसी को लेकर जिला प्रशासन की नई पहल की है कि जिले की 1800 स्कूलों के 3 लाख 85 हजार बच्चों से ही मां-बाप की वैक्सीन की जानकारी हासिल की जाए.

शत-प्रतिशत स्कूल खुलने पर पाबंदी
कोरोना के नए वेरिएंट ओमीक्रॉन को लेकर मध्य प्रदेश सरकार अलर्ट पर हैं. ऐसे में सरकार ने पिछले हफ्ते शत-प्रतिशत संख्या के साथ स्कूल खोलने के फैसले को वापस ले लिया है. मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने ऐलान किया कि स्कूल अभी पचास फीसदी क्षमता के साथ ही खुलेंगे. छात्र हफ्ते में 3 दिन ही स्कूल जाएंगे. स्कूलों को ऑनलाइन क्लासेस चलाने के निर्देश जारी किए गए हैं.

रंग लाई सांसद डॉ. सुभाष चंद्रा की मुहिम, गोद लिए गांव 'किशनगढ़' ने लिखी विकास की नई कहानी
 
मास्क न पहनने पर 500 रुपए तक जुर्माना
इसके अलावा सीएम शिवराज ने भोपाल की बैठक में अफसरों से कहा है कि एयरपोर्ट और रेलवे स्टेशन पर कोरोना जांच नियमित हो.  विभिन्न स्थानों पर आरटी- पीसीआर टेस्ट की व्यवस्था की जाए. सीएम के साथ बैठक के बाद भोपाल कलेक्टर अविनाश लवानिया ने लोगों से मास्क पहनने की अपील की है. उन्होंने सभी एसडीएम को मास्क नहीं पहनने वाले लोगों के खिलाफ 500 रुपये की चालानी कार्रवाई करने के निर्देश दिए हैं. 

WATCH LIVE TV

Trending news