जंडेल के फिर बिगड़े बोल: इस बार दी विधानसभा में संविधान की प्रतियां जलाने की धमकी
X

जंडेल के फिर बिगड़े बोल: इस बार दी विधानसभा में संविधान की प्रतियां जलाने की धमकी

कांग्रेस विधायक बाबू जंडेल किसानों के साथ जिला कलेक्टर कार्यालय का घेराव करने पहुंचे थे.  

जंडेल के फिर बिगड़े बोल: इस बार दी विधानसभा में संविधान की प्रतियां जलाने की धमकी

श्योपुरः श्योपुर से कांग्रेस विधायक बाबू जंडेल अपने विवादित बयानों से अक्सर सुर्खियों में रहते हैं. एक बार फिर बाबू जंडेल के बोल बिगड़ते हुए नजर आए. दरअसल, श्योपुर में बेमौसम बारिश से किसानों की फसलों को नुकसान पहुंचा है, जबकि बाढ़ पीड़ितों को अभी तक मुआवजा नहीं मिला. ऐसे में बाबू जंडेल किसानों के साथ जिला कलेक्टर कार्यालय का घेराव करने पहुंचे. जहां उन्होंने विवादित बयान दिया. 

प्रदेश सरकार पर भड़के कांग्रेस विधायक 
दरअसल, किसानों के साथ जिला कलेक्टर कार्यालय का घेराव करने पहुंचे कांग्रेस विधायक श्योपुर में बाढ़ पीड़ितों को अभी तक मुआवजा नहीं देने को लेकर प्रदेश सरकार पर भड़क गए. उन्होंने देश के संविधान और कानून को रद्दी बताते हुए अपना आपा खो दिया. कांग्रेस विधायक बाबू जंडेल ने बीजेपी सरकार को चेतावनी देते हुए धमकी देते हुए कहा कि ''जिस कानून और संविधान को सरकार नहीं मानती उसका होना किसी काम का नहीं है, जंडेल ने कहा कि वह बाढ़ पीड़ितों के मुआवजे की मांग को लेकर धरने पर बैठे थे, उन्होंने जिला प्रशासन को 3 हजार आवेदन देकर बाढ़ पीड़ितों मुआवजा दिलाने की मांग करते हुए आंदोलन भी किया था. लेकिन अभी तक 3 हजार पीड़ितों में से किसी को भी मुआवजा नहीं दिया है.''

संविधान पर दिया विवादित बयान 
जिला प्रशासन ओर सरकार के रवैये से खफा हुए कांग्रेस विधायक बाबू जंडेल ने इस बार सारी सीमाएं लांघ दी और उन्होंने धमकी भरे लहजे में चेताया कि ''जिस कानून संविधान से पीड़ितों को न्याय नहीं मिल सकता, उस कानून की सप्ता जी को वह मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान के सामने ही आग के हवाले करेंगे और विधानसभा में देश के संविधान की प्रतियों को आग लगाएंगे''  विधायक बाबू जंडेल यही नहीं रुके उन्होंने शिवराज सरकार में भ्रष्टाचार कि तुलना अंग्रेजों से कर दी.'' जिसके बाद उनका यह बयान सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है. 

पहले भी दे चुके हैं विवादित बयान 
गौरतलब है कि यह कोई पहला मौका नहीं है जब कांग्रेस विधायक बाबू जंडेल ने विवादित बयान दिया हो. इससे पहले उनका श्योपुर जिले के बड़ौदा तहसीलदार भरत नायक के साथ तू-तड़ाक करते हुए एक वीडियो वायरल हुआ था. जबकि विधानसभा सत्र के दौरान उन्होंने अपने कपड़े फाड़ दिए थे. कपड़े फाड़ने के बाद विधायक ने कहा कि था कि उनके क्षेत्र के बाढ़ पीड़ितों को तत्त्काल सहायता न मिल पाने की वजह से वह नाराज हैं. उनके क्षेत्र की जनता परेशान है, क्षेत्र की जनता के पास कपड़े नहीं है, बाढ़ से परेशान जनता नग्न है, इसी कारण उन्होंने भी कपड़े फाड़ दिए. उनका कहना है कि श्योपुर प्रशासनिक अफसरों ने जनता पर ध्यान नहीं दिया. 

वहीं एक सभा के दौरान उन्होंने आदिवासी समाज को लेकर भी विवादित टिप्पणी की थी. जिसके बाद बीजेपी भी उन पर हमलावर हो गई थी. बता दें कि बाबूलाल जंडेल श्योपुर विधानसभा सीट से पहली बार विधायक बने हैं. लेकिन उनके बयानों से वह हमेशा चर्चा में रहते हैं. 

ये भी पढ़ेंः खंडवा उपचुनाव में अरुण यादव ने कराई ''हेमा मालिनी'' और ''स्मृति ईरानी'' की एंट्री, जानिए क्या है मामला 

WATCH LIVE TV

Trending news