कांग्रेस विधायक ने पार्टी के फैसलों पर उठाए सवाल, कहा-निर्णय ऊपर से होते हैं क्यों?
X

कांग्रेस विधायक ने पार्टी के फैसलों पर उठाए सवाल, कहा-निर्णय ऊपर से होते हैं क्यों?

कांग्रेस विधायक ने ट्वीट कर अपनी ही पार्टी पर सवाल खड़े किए हैं. 

कांग्रेस विधायक ने पार्टी के फैसलों पर उठाए सवाल, कहा-निर्णय ऊपर से होते हैं क्यों?

भोपालः मध्य प्रदेश में उपचुनाव के बीच कांग्रेस के एक दिग्गज विधायक ने अपनी ही पार्टी को कटघरे में खड़ा किया. विधायक ने ट्वीट कर  पार्टी की कार्यप्रणाली पर सवाल उठाए हैं. खास बात यह है कि उन्होंने यह ट्वीट ट्वीट में प्रदेश कांग्रेस कमेटी और नेशनल कांग्रेस कमेटी के ट्विटर अकाउंट को भी टैग किया है. कांग्रेस विधायक के ट्वीट के बाद प्रदेश के सियासी हलकों में चर्चाओं का बाजार गर्म हो गया है. 

लक्ष्मण सिंह ने साधा निशाना 
दरअसल, यह पूरा मामला कांग्रेस नेता दिग्विजय सिंह के भाई लक्ष्मण सिंह से जुड़ा हुआ है. दरअसल, दिल्ली में हुई कांग्रेस वर्किंग कमेटी की बैठक में राहुल गांधी को कांग्रेस पार्टी का अध्यक्ष बनाने की मांग की गई है. जिसके बाद माना जा रहा है कि राहुल गांधी एक बार फिर से कांग्रेस के अगले राष्ट्रीय अध्यक्ष बन सकते हैं. फिलहाल सोनिया गांधी यह जिम्मेदारी संभाल रही है. कांग्रेस की इस बैठक के बाद ''कांग्रेस विधायक लक्ष्मण सिंह ने एक ट्वीट कर अपनी पार्टी को कटघरे में खड़ा कर दिया. उन्होंने लिखा कि ''कांग्रेस पार्टी का अध्यक्ष कोई भी बने, जब तक बूथ कार्यकर्ता को मजबूत नहीं करेंगे, नतीजे "ज्यों के त्यों"ही रहेंगे. मंडलम, सेक्टर बन गए हैं, फिर भी निर्णय ऊपर से होते हैं. क्यों? ''

लक्ष्मण सिंह के इस ट्वीट के बाद सियासी गलियारों में एक बार फिर कांग्रेस पार्टी की अंतर्कलह उजागर होती नजर आ रही है. हालांकि लक्ष्मण सिंह अपने ही इस रवैये के लिए जाने जाते हैं. वह पहले भी कई बार पार्टी के फैसलों पर सवाल उठा चुके हैं. जबकि कई बार वह पार्टी लाइन से हटकर भी सवाल खड़े कर चुके हैं. बता दें कि जम्मू-कश्मीर से धारा-370 हटाने का समर्थन भी लक्ष्मण सिंह ने किया था. 

लक्ष्मण सिंह ने कहा था कि कश्मीर में धारा 370 दोबारा संभव नहीं है. उस वक्त भी उन्होंने ट्वीट करते हुए लिखा था कि  ''कश्मीर में पुनः "धारा 370" लागना अब संभव नहीं है. परंतु यह भी सच है कि "धारा 370"का समर्थन करने वाले फारूक अब्दुल्ला, NDA की सरकार में मंत्री रहे हैं. अथवा एक अन्य धारा 370 की समर्थक महबूबा मुफ्ती का समर्थन भाजपा कर चुकी है.'' लक्षमण सिंह ने ट्वीट को बाकायदा कांग्रेस और दिग्विजय सिंह टैग किया था. 

इससे पहले उन्होंने लव जिहाद पर बनाए गए कानून का भी समर्थन किया था लक्ष्मण सिंह ने ट्वीट कर लव-जिहाद पर बनाए जा रहे कानून पर लिखा कि "बलपूर्वक" विवाह करना और "बलपूर्वक "धर्म परिवर्तन के खिलाफ अगर कानून बन रहा है. लेकिन जो लोग ऐसा नहीं करते है उन्हें इस कानून से डरने की क्या आवश्यकता है. यानि लक्ष्मण सिंह ने एक तरह से लव-जिहाद के खिलाफ बनाए जाने वाले कानून का समर्थन ही किया है. वहीं अब उनका अपनी ही पार्टी के फैसलों पर किया गया यह ट्वीट भी जमकर वायरल हो रहा है.

ये भी पढ़ेंः उपचुनाव में जुबानी जंग हुई तेज, सीएम शिवराज ने कहा- कमलनाथ एक-एक करके कांग्रेस में सबको निपटाते जा रहे हैं

WATCH LIVE TV

Trending news