इंदौर के रिंग रोड पर गड्‌ढे में घुसा एक्टिवा का टायर, दो छात्राएं उछलकर गिरीं, एक की मौत

इंदौर में बारिश से खस्ताहाल हो चुकी शहर की सड़कें अब जानलेवा हो चुकी हैं. इन्हीं गड्ढों की वजह से एक लड़की की मौत हो गई जबकि दूसरी गंभीर है और उसका इलाज चल रहा है.

इंदौर के रिंग रोड पर गड्‌ढे में घुसा एक्टिवा का टायर, दो छात्राएं उछलकर गिरीं, एक की मौत

अंशुल मुकाती/इंदौर: इंदौर में बारिश से खस्ताहाल हो चुकी शहर की सड़कें अब जानलेवा हो चुकी हैं. इन्हीं गड्ढों की वजह से एक लड़की की मौत हो गई जबकि दूसरी गंभीर है और उसका इलाज चल रहा है. मरने वाली लड़की का नाम सरिता रणदा है, वह द्वितीय वर्ष की छात्रा है. 

शनिवार रात सरिता भाई राहुल और सहेली सुजाता के साथ स्कूटर से खाना खाने बाहर निकली थी. वह रिंगरोड से खंडवा नाका आ रही थी. तभी पानी भरा होने से स्कूटी का अगला पहिया गड्ढे में फंस गया और तीनों एक-दूसरे पर गिर गए. हादसे में सुजाता गंभीर घायल हुई है जिसे तुरंत निजी अस्पताल में भर्ती किया गया. लेकिन गंभीर चोट आने की वजह से उसकी मौत हो गई. इस मामले में भंवरकुआं थाना पुलिस ने मर्ग कायम कर मामले की जांच में जुटी है. जांच अधिकारी अमर सिंह ने बताया कि हादसा रात करीब सवा आठ बजे का है.

दरअसल, भंवरकुआं थाना क्षेत्र की रहने वाली सविता अपने भाई और सहेली के साथ खाना खाने के लिए बाहर निकली थी. विशेष हॉस्पिटल के नजदीक मेन रोड पर गड्ढे में काफी पानी भरा हुआ था. उस पानी में अचानक से गाड़ी का पहिया चला गया और गाड़ी का बैलेंस बिगड़ गया. जिसके कारण स्कूटी पर सवार भाई-बहन नीचे गिर गए. इस दौरान सविता को सिर में गंभीर चोट भी लगी. सविता को तुरंत हॉस्पिटल ले जाया गया जहां देर रात इलाज के दौरान उसकी मौत हो गई.

सरिता के भाई राहुल सोलंकी ने बताया कि सरिता गुजराती कॉलेज में द्वितीय वर्ष की छात्रा थी और सहेली सुजाता के साथ मूसाखेड़ी (आइडीए मल्टी) में किराए से रहती थी. मैं होलकर साइंस कालेज में पढ़ाई कर रहा हूं और खंडवा नाका रहता हूं. सरिता ने शाम को कहा नल में पानी नहीं आ रहा है. मैं स्कूटी से दोनों को खंडवा नाका स्थित रूम पर लेकर आ रहा था. रिंग रोड पर बारिश के कारण गहरे गड्ढे पड़ चुके हैं. मैं काफी बच-बचकर स्कूटर चला रहा था, लेकिन विशेष हॉस्पिटल के 600 मीटर आगे की सड़क पर पानी भरा होने से गड्ढे का अनुमान नहीं लगा पाया और गाड़ी का पूरा पहिया ही उसमें डूब गया. जैसे ही गाड़ी गड्ढे में उतरी मैं एक तरफ गिर गया. सरिता और सुजाता भी पलट गईं. सरिता के बेहोश होने पर करीब 15 मिनट तक लोगों से मदद मांगता रहा. एक राहगीर रुका और उसने रिक्शावाले को रोका. मैं तत्काल उसे भंवरकुआं थाना के पास एक निजी अस्पताल लेकर आया. पांच मिनट बाद ही डाक्टर ने सरिता को मृत बता दिया. सुजाता को उसी अस्पताल में भर्ती किया गया है.

छात्रा की मौत के बाद भंवरकुआं टीआई संतोष दूधी रविवार को घटनास्थल पर जांच करने पहुंचे. इस दौरान गाड़ी चला रहे राहुल को भी पुलिस मौके पर लाई थी. उन्होंने बताया कि किस तरह वो लोग सड़क से जा रहे थे और रास्ते के गड्ढे में उनकी स्कूटर का अगला पहिया चला गया और पीछे बैठीं दोनों छात्राएं गिर गईं.

सतना: भाइयों में खूनी संघर्ष, छोटे भाई की पत्नी के सिर पर कुल्हाड़ी से वार, बच्चे को दौड़ा-दौड़ा कर पीटा

कछुआ चाल में भोपाल मेट्रो प्रोजेक्ट, 2 साल पहले कमलनाथ ने किया था भूमिपूजन, अब तक सिर्फ 6 KM तक काम

WATCH LIVE TV