Madhya Pradesh में फिर हुआ खाद पर विवाद, हजारों की भीड़ को संभालने के लिए पुलिस बल तैनात
X

Madhya Pradesh में फिर हुआ खाद पर विवाद, हजारों की भीड़ को संभालने के लिए पुलिस बल तैनात

खाद वितरण (Fertilizer Distribution) के दौरान भारी हंगामा हो गया. शहर की कृषि उपज मंडी करहिया में सुबह से ही किसानों (Farmers) की खाद लेने के लिए लम्बी लाइन लग गई थी. किसान दूर दूर से सेवा सहकारी समित में पहुंचे, जंहा पर किसानों को खाद के लिए घंटों तक संघर्ष करना पड़ा.

Madhya Pradesh में फिर हुआ खाद पर विवाद, हजारों की भीड़ को संभालने के लिए पुलिस बल तैनात

संजय लोहानी/रीवा: खाद वितरण (Fertilizer Distribution) के दौरान भारी हंगामा हो गया. शहर की कृषि उपज मंडी करहिया में सुबह से ही किसानों (Farmers) की खाद लेने के लिए लम्बी लाइन लग गई थी. किसान दूर दूर से सेवा सहकारी समित में पहुंचे, जंहा पर किसानों को खाद के लिए घंटों तक संघर्ष करना पड़ा. 5 से 6 घंटे के इंतजार के बाद भी किसानों को खाद नहीं मिली तो उनका गुस्सा बढ़ गया. दरअसल वहां ढाई सौ बोरी खाद लेने के लिए हजारों किसान पहुंच गए थे, जिसके बाद वहां तनातनी शुरू हो गई. हालात संभालने के लिए पुलिस (Madhya Pradesh Police) को हल्का बल का प्रयोग भी करना पड़ा. 

पुलिस बल तैनात
हंगामे की खबर मिलने पर मौके पर पहुंचे नायब तहसीलदार ने टोकन के माध्यम से व्यवस्था बनवाई और 55 लोगों को खाद देने की बात तय हुई. हजारों की भीड़ को संभालने के लिए मौके पर पुलिस बल तैनात किया गया. चोरहटा थाना क्षेत्र के करहिया मंडी में खाद वितरण के दौरान हुई अव्यवस्था ने किसानों के पसाने छुड़ा दिए.

Madhya Pradesh में शिवराज सरकार का चुनावी कार्ड, महंगाई भत्ते में इजाफा, देखिए कितने प्रतिशत की हुई बढ़ोत्तरी

रीवा जिले में खाद का संकट 
अच्छी फसल के लिए किसानों को अब खाद चाहिए है, लेकिन रीवा जिले में इसका संकट हैं. सस्ते दर पर मिलने वाली खाद हासिल करने के लिए किसानों को कड़ी मेहनत करनी पड़ रही हैं. कृषि उपज मंडी करहिया में सुबह से किसानो की लाइन लग जाती है. उसके बाद भी ज्यादातर किसानों को खाली हाथ लौटना पड़ता है.   

उम्मीद लिए पहुंचे थे अन्नदाता 
अभी तक किसानों को सोसायटी के माध्यम से खाद मिल जाती थी, लेकिन इस बार खाद का वितरण कृषि उपज मंडी करहिया में किया जा रहा है. इसके चलते हजारों की संख्या में लोगों की भीड़ यंहा पर लग रही है. पिछले कई दिनों से किसान आ रहे थे लेकिन खाद का वितरण नहीं हो रहा था. लेकिन गुरूवार को यंहा पर खाद वितरण की जानकारी मिलने पर अन्नदाता उम्मीद लिए वहां पहुंचे. घंटों खड़े रहने के बाद भी उन्हें वापस लौटने को कहा गया. जिससे हंगामा शुरू हो गया. इसके बाद पुलिस की मौजूदगी में लोगों को खाद बाटा गया. प्रशासनिक अधिकारीयों का कहना है की आगे से टोकन के माध्यम से किसानों को खाद दी जाएगी. 

Watch Live TV

Trending news