MP Panchayat Election: बिजली बिल है बकाया तो नहीं लड़ सकेंगे चुनाव! जानिए क्या हैं नियम?
X

MP Panchayat Election: बिजली बिल है बकाया तो नहीं लड़ सकेंगे चुनाव! जानिए क्या हैं नियम?

MP Panchayat Election: राजगढ़ कलेक्टर हर्ष दीक्षित ने बताया कि निष्पक्ष और निर्भीक चुनाव के लिए पूरी तैयारियां हो चुकी हैं. गांव में किसी भी तरह की गड़बड़ी करने वालों के चिन्हित किया जाएगा और अगर वह गलत काम करते पाए गए तो उनके खिलाफ प्रतिबंधात्मक कार्रवाई की जाएगी.

MP Panchayat Election: बिजली बिल है बकाया तो नहीं लड़ सकेंगे चुनाव! जानिए क्या हैं नियम?

राजगढ़ः त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव को लेकर प्रशासनिक स्तर पर तैयारियां शुरू हो गई हैं. पंचायत चुनाव (MP Panchayat Election) को लेकर राजगढ़ कलेक्टर ने एक प्रेस कॉन्फ्रेंस की. जिसमें कलेक्टर ने जानकारी देते हुए बताया कि पहले चरण में राजगढ़, ब्यावरा विकास खंड की पंचायतों में चुनाव होंगे. वहीं दूसरे चरण में खिलचीपुर, जीरापुर में चुनाव होना है. तीसरे और अंतिम चरण में सारंगपुर, नरसिंहगढ़ जनपद के अंतर्गत आने वाली पंचायतों में चुनाव ( Panchayat Chunav) कराए जाएंगे. 

बिजली बिल बाकी है तो नहीं लड़ सकेंगे चुनाव!
पंचायत चुनाव (MP Panchayat Election) के प्रत्याशियों के लिए कुछ नियम तय किए गए हैं, जिनके तहत सरपंच उम्मीदवार को प्रशासन से एनओसी प्रमाण पत्र लेना होगा. नियम के मुताबिक बिजली का पूरा बकाया चुकाने के बाद ही कोई व्यक्ति सरपंच पद के लिए नामांकन कर सकेगा. राजगढ़ कलेक्टर हर्ष दीक्षित ने बताया कि निष्पक्ष और निर्भीक चुनाव के लिए पूरी तैयारियां हो चुकी हैं. गांव में किसी भी तरह की गड़बड़ी करने वालों के चिन्हित किया जाएगा और अगर वह गलत काम करते पाए गए तो उनके खिलाफ प्रतिबंधात्मक कार्रवाई की जाएगी. साथ ही चुनाव लड़ने वाले सभी प्रत्याशियों से विभिन्न तरह के बकाया का नोटिस भी लिया जाएगा. 

प्रत्याशी का नाम ग्राम सभा की मतदाता सूची में होना जरूरी है. यदि किसी प्रत्याशी को निचली अदालत से सजा मिल चुकी है तो वह व्यक्ति चुनाव नहीं लड़ सकता. हालांकि अगर उसकी अपील ऊपरी अदालत में लंबित है तो वह चुनाव लड़ सकता है. उम्मीदवारों पर किसी भी प्रकार का टैक्स बकाया नहीं होना चाहिए. इसके लिए उम्मीदवार को ब्लॉक से जारी होने वाला प्रमाण पत्र प्रस्तुत करना होता है. शपथ पत्र में बताई गई किसी बात के झूठा निकलने पर उम्मीदवारी निरस्त की जा सकती है. 

बता दें कि राज्य निर्वाचन आयोग (State Election Commission) ने पंचायत चुनाव की तारीखों का ऐलान कर दिया है. जिसके तहत 6 जनवरी को पहले चरण का मतदान होगा. दूसरे चरण का मतदान 28 जनवरी को होगा और तीसरे और आखिरी चरण का मतदान 16 फरवरी को होगा. चुनाव के लिए नामांकन की प्रक्रिया 13 दिसंबर से शुरू हो जाएगी जो कि 20 दिसंबर तक चलेगी. प्रदेश में चुनाव आचार संहिता लागू हो चुकी है. 

Trending news