PM Modi Birthday Spl: 'स्वच्छ भारत' से पहुंचाया 'आत्मनिर्भरता' तक; जब मगरमच्छ पकड़ने में हो गए थे घायल!
X

PM Modi Birthday Spl: 'स्वच्छ भारत' से पहुंचाया 'आत्मनिर्भरता' तक; जब मगरमच्छ पकड़ने में हो गए थे घायल!

Narendra Modi Birthday: 2001 में गुजरात के मुख्यमंत्री रहते हुए राज्य में विनाशकारी भूकंप आया, बाढ़ और सूखे जैसे हालात भी देखने को मिले. जिसे उन्होंने पूरी तरह बदलकर रख दिया.

PM Modi Birthday Spl: 'स्वच्छ भारत' से पहुंचाया 'आत्मनिर्भरता' तक; जब मगरमच्छ पकड़ने में हो गए थे घायल!

नई दिल्लीः Prime Minister Narendra Modi Birthday Special: देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Narendra Modi 71st Birthday) का आज 71वां जन्मदिन है. गुजरात के वडनगर में 17 सिंतबर 1950 को एक गुजराती परिवार में उनका जन्म हुआ. उनके बारे में बताया जाता है कि 8 साल की उम्र तक उन्होंने चाय बेचने के काम में अपने पिता का हाथ बटाया और अपना खुद का चाय स्टॉल भी चलाया. फिर वह राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (RSS) से जुड़ गए और यहीं से उन्होंने बीजेपी का दामन थामा. 2001 में गुजरात के मुख्यमंत्री बनने के बाद उनका राजनीतिक ग्राफ टॉप पर पहुंचा और अब वह प्रधानमंत्री के रूप में देश की सेवा कर रहे हैं. उनके जन्मदिन पर यहां जानें उनके जीवन से जुड़े कुछ कमसुने किस्सों के बारे में.

सुभाष चंद्रा ने दीं शुभकामनाएं

CM शिवराज ने दीं शुभकामनाएं

PM के रूप में पहला शिक्षक दिवस
26 मई 2014 को लोकसभा चुनाव में जीत के बाद भारतीय जनता पार्टी (BJP) ने नरेंद्र मोदी को अपना उम्मीदवार चुनते हुए उन्हें देश का प्रधानमंत्री बनाया. PM (Prime Minister) बनने के बाद 5 सितंबर 2014 को शिक्षक दिवस के दौरान उन्होंने देशभर के बच्चों से संवाद किया. 18 स्कूलों में लाइव चले इस प्रोग्राम में लेह के एक छात्र ने उनसे पूछा, क्या बाल नरेंद्र शरारती थे? तब प्रोग्राम में ही उन्होंने अपने जीवन से जुड़े दो किस्से बता दिए. 

यह भी पढ़ेंः- Kishore Kumar Birthday: `चला जाता हूं किसी की धुन में...` किशोर दा कैसे बने योडलिंग किंग..!

इमली से करते थे शहनाई वाले को तंग
पीएम मोदी ने बताया कि बचपन में शादी समारोह के दौरान जब शहनाई बजती थी, उस दौरान वे अपने कुछ दोस्तों के साथ शहनाई वाले के सामने इमली खाने लग जाते थे. इमली देख शहनाई वाले के मुंह में पानी आ जाता और वह ठीक से शहनाई नहीं बजा पाता. इतना ही नहीं अपने साथियों के साथ वे किसी की भी शादी में चले जाते और वहां मौजूद दो लोगों के कपड़ों पर स्टेपलर लगा दिया करते थे.

यह भी पढ़ेंः- Chandra Shekhar Azad Birthday: इस घटना के बाद छोड़ी थी कांग्रेस; महिला की इज्जत बचाने साथी पर चला दी थी गोली!

पकड़ लाए थे मगरमच्छ!
PM मोदी के कई किस्से मशहूर हैं. 2014 में बच्चों के लिए 'बाल नरेंद्र' किताब भी लॉन्च की गई थी. जिसमें उनके जीवन के 17 किस्सों को बताया गया. उसी में बताया गया कि बचपन में वह एक मगरमच्छ के बच्चे को तालाब से पकड़ लाए थे, तब उन्हें चोट भी आई और उनके पैर में 9 टांके लगे थे. बताया जाता है कि गुजरात के मुख्यमंत्री बनने के बाद भी वे अपने कपड़े खुद ही धोते थे. 

पीएम मोदी की पत्नी
2014 लोकसभा चुनाव में वडोदरा सीट से अपना नामांकन भरने के दौरान मोदी ने जशोदाबेन को अपनी पत्नी बताया था. PM के करीबी और उनके घरवालों को मिलने वाली SPG सुरक्षा उनकी पत्नी को भी मिली है. दोनों की शादी 1968 में हुई, उस वक्त नरेंद्र मोदी 18 और जशोदाबेन 17 साल की थीं. जशोदाबेन स्कूल टीचर के पद से रिटायर हो चुकी हैं और इस वक्त अपने भाइयों के साथ गुजरात के ही मेहसाणा स्थित एक गांव में रह रही हैं.

यह भी पढ़ेंः- महज 20 साल की उम्र में 35 साल की महिला से हुआ था प्यार, कुछ ऐसी है Naseeruddin Shah की दिलचस्प जिंदगी

ग्रेजुएशन के बाद छोड़ दिया घर
बताया जाता है कि मोदी ने कभी इस विवाह को पूरी तरह एक्सेप्ट नहीं किया और कॉलेज से ग्रेजुएशन के बाद ही उन्होंने अपना शहर और घर छोड़ दिया. उन्होंने BJP का दामन थामा, राम जन्मभूमि बनवाने के लिए लालकृष्ण आडवाणी व अन्य नेताओं के साथ रहे. 2001 में वह गुजरात के मुख्यमंत्री बने और 13 साल तक CM रहने के बाद 2014 लोकसभा चुनाव में जीत के बाद देश के प्रधानमंत्री भी बने. मोदी इस वक्त प्रधानमंत्री पद पर अपना दूसरा कार्यकाल पूरा कर रहे हैं. 

'स्वच्छ भारत' से 'मेक इन इंडिया' तक
2001 में गुजरात के मुख्यमंत्री रहते हुए राज्य में विनाशकारी भूकंप आया, बाढ़ और सूखे जैसे हालात भी देखने को मिले. जिसे उन्होंने पूरी तरह बदलकर रख दिया. गुजरात में उन्होंने पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी के नाम से स्पोर्ट्स कॉम्प्लेक्स भी खुलवाया. वहीं प्रधानमंत्री बनने के बाद उन्होंने स्वच्छ भारत मिशन, मेक इन इंडिया, आधार कार्ड, नोटबंदी, जीएसटी, आत्मनिर्भर भारत, उज्ज्वला योजना, आयुष योजना, अंतरराष्ट्रीय योग दिवस जैसी कई योजनाओं और पहल को अंजाम दिया. उनके कार्यकाल में अयोध्या में राम मंदिर भी बनने जा रहा है. 

पीएम मोदी सोशल मीडिया पर काफी एक्टिव होने के साथ ही दुनियाभर के नेताओं में अपनी एक अलग पहचान बना चुके हैं. 

यह भी पढ़ेंः- इमरजेंसी के समय जेल में बैठे राजनाथ सिंह का हाथ पढ़ रहे थे रामप्रकाश गुप्त, बोले- 'एक दिन बनोगे यूपी के सीएम'

WATCH LIVE TV

Trending news