यूट्यूब चैनल देखकर युवक को किया अगवा, 12 घंटे में ही पुलिस ने फेल कर दिया प्लान

रीवा में पुलिस ने युवक का अपरहण करने वाले आरोपियों को 12 घंटे के अंदर ही गिरफ्तार कर लिया. 

यूट्यूब चैनल देखकर युवक को किया अगवा, 12 घंटे में ही पुलिस ने फेल कर दिया प्लान
पुलिस ने आरोपियों को किया गिरफ्तार

रीवाः रीवा जिले में अपहरण का एक सनसनीखेज मामला सामने आया है. जहां दो युवकों ने पैसों के लिए एक युवक अपहरण की साजिश रची. खास बात यह है कि दोनों ने यूट्यूब चैनल देखकर अपहरण का प्लान बनाया, लेकिन रीवा पुलिस ने घटना के 12 घंटे के अंदर ही अपहरण किए गए युवक को छुड़ा लिया और आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया. पकड़े गए आरोपियों के पास से पुलिस को हथियार भी मिले हैं. 

यह है पूरा मामला 
दरअसल, यह पूरा मामला डकैत प्रभावित इलाके जवा क्षेत्र का बताया जा रहा है. रीवा जिले के पुलिस अधीक्षक नवनीत भसीन ने मामले का खुलासा करते हुए ने बताया की रीवा जिले के तराई अंचल क्षेत्र के जवा थाना अंतरगर्त जवा कस्बे में रहने वाले शिवम प्रताप कोल गढ़वा में बीज भंडार की दुकान संचालित करता है. बीती शाम करीब पांच बजे युवक के मोबाइल से उसकी मां को फोन आया, जिस पर बदमाशों ने उसके अपहरण किये जाने की सूचना दी और उसको छोड़ने के एवज में आठ लाख रुपए की फिरौती मांगी. 

जान से मारने की दी धमकी 
इतना ही नहीं आरोपियों ने युवक के परिजनों से कहा कि अगर इस मामले की जानकारी उन्होंने पुलिस को दी तो वह युवक की हत्या कर देंगे. जिसके बाद परिजनों ने देर न करते हुए घटना की सूचना तत्काल पुलिस को दी. युवक के अपहरण की सूचना मिलने के बाद पुलिस ने भी मामले की गंभीरता को समझते हुए सायबर सेल के माध्यम से युवक की लोकेशन ट्रेस करना शुरू कर दिया. पुलिस ने कई टीमें बनाकर आरोपियों की तलाश शुरू कर दी. 

एसपी ने खुद की सर्चिंग 
मामले की गंभीरता को देखते हुए पुलिस कप्तान नवनीत भसीन खुद रात में ही जवा थाने पहुंचे और पुलिस टीम के साथ जंगल में सर्चिंग के लिए उतर गए. सुबह पांच बजे पुलिस को मुखबिर से सुचना मिली की डोडौं के जंगल में बने गौशाला के पास बदमाश छुपे हुए हैं. जिसके बाद पुलिस ने घेराबंदी कर रितिक सिंह सहित उसके साथी को हथियार सहित गिरफ्तार करते हुए शुभम कोल को अपहरण से मुक्त कराया. 

पुलिस ने बताया कि पकड़े गए दोनों युवकों से जब पूछताछ की गई तो उन्होंने मामले में चौकाने वाला खुलासा किया. दरअसल, युवकों ने पैसे के लिए युवक का अपहरण किया था. जिसके लिए उन्होंने पहले एक यूट्यूब चैनल को देखकर अपहरण की पूरी साजिश रची. पुलिस ने बताया कि आरोपियों के पास से देशी कट्टा, जिंदा कारतूस, एक स्कूटी और मोबाइल जब्त किया गया है. 

वहीं इस घटना का महज 12 घंटे में खुलासा करने पर रीवा जोन के एडीजीपी ने पूरी टीम को तीस हजार रुपए का पुरुस्कार देने की घोषणा की है. साथ ही एडिशनल एसपी और डीएसपी को प्रस्तृति पत्र देने की घोषणा की गई है. फिलहाल पुलिस आरोपियों से पूछताछ कर रही है.

ये भी पढ़ेंः दिग्विजय सिंह का दावा- 2028 तक हिंदू-मुस्लिम की जनसंख्या दर हो जाएगी बराबर; BJP प्रदेश अध्यक्ष बोले- इन्हें चिंता है...

WATCH LIVE TV