Jammu Kashmir Encounter: शहीद कर्णवीर सिंह राजपूत के परिजनों से मिले केंद्रीय मंत्री Narendra Singh Tomar
X

Jammu Kashmir Encounter: शहीद कर्णवीर सिंह राजपूत के परिजनों से मिले केंद्रीय मंत्री Narendra Singh Tomar

मध्यप्रदेश (Madhya Pradesh) के सतना के वीर जवान कर्णवीर सिंह राजपूत (Karnveer Singh Rajput) आतंकियों से लड़ते हुए वीरगति को प्राप्त हो गए थे. उनके परिजनों से मिलने केंद्रीय मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर (Narendra Singh Tomar) भी दलदल गांव पहुंचे और सतना के लाल की शहादत को सलाम किया.

Jammu Kashmir Encounter: शहीद कर्णवीर सिंह राजपूत के परिजनों से मिले केंद्रीय मंत्री Narendra Singh Tomar

संजय लोहानी/सतना: मध्यप्रदेश (Madhya Pradesh) के सतना के वीर जवान कर्णवीर सिंह राजपूत (Karnveer Singh Rajput) आतंकियों से लड़ते हुए वीरगति को प्राप्त हो गए थे. उनके परिजनों से मिलने केंद्रीय मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर (Narendra Singh Tomar) भी दलदल गांव पहुंचे और सतना के लाल की शहादत को सलाम किया. इस दौरान अपनी संवेदनाएं व्यक्त करते हुए उन्होंने कहा कि सतना जिले के वीर सपूत कर्णवीर की शहादत पर हर कोई गर्व कर रहा है. जम्मू कश्मीर (Jammu Kashmir Encounter) के सोपिया सेक्टर में बुधवार को सतना का लाल आंतकी मुठभेड़ में वीरगति को प्राप्त हुए थे. इससे पहले उन्होंने दो आतंकियों को ढेर कर दिया. आज उन्हें राजकीय और सैन्य सम्मान के साथ अंतिम विदाई दी गई.

शिवराज सिंह चौहान भी हुए थे शामिल 
कर्णवीर सिंह राजपूत के अंतिम सफर में शुक्रवार दोपहर प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान शामिल हुए. इसके बाद रात में केंद्रीय मंत्री नरेंद सिंह तोमर भी दलदल गांव पहुंचे और वीर सपूत की शहादत को सलाम किया. उन्होंने परिवार को सांत्वना दी और कहा कि कर्णवीर की शहादत पर पूरे देश को गर्व है. देश आपके साथ है.

VIP Numbers Auction: महंगाई की मार का असर वीआईपी नंबरों पर भी, पसंदीदा नंबर 0001 के लिए भी नहीं दिखी डिमांड

सतना जिले के वीर जवान कर्णवीर सिंह राजपूत आतंकियों से लड़ते हुए वीरगति को प्राप्त हो गए थे. कर्णवीर सिंह सतना शहर के वार्ड नंबर 22 में रहने वाले रिटायर्ड सूबेदार मेजर राजू सिंह के सुपुत्र थे. वो 21 राजपूत रेजिमेंट में तैनात थे. कर्णवीर सिंह ने वीरगति प्राप्त करने से पहले दो आतंकियों को भी ढेर कर दिया. कश्मीर के शोपियां में बुधवार की सुबह से ही मुठभेड़ चल रही थी. जिसमें कर्णवीर सिंह सुबह से ही मोर्चा संभाले हुए थे. इस मुठभेड़ में पांच जवान घायल हुए थे. जानकारी के मुताबिक आतंकी कार से आए और फायरिंग शुरू कर दी. क्रॉस फायरिंग में कर्णवीर शहीद हो गए. कर्णवीर सिंह के पिता भी सेना में सूबेदार थे. बेटे की शहादत की खबर मिलने के बाद से परिवार में गहरा दुख छाया हुआ है. 

Watch Live TV

Trending news