मध्य प्रदेश में MSME की नई पॉलिसी जल्द, इन व्यापारियों को होगा फायदा

एमएसएमई मिनिस्टर ने कहा कि अभी तक हमने किसान, श्रमिकों और छोटे व्यापारियों को कुछ न कुछ दिया है. लेकिन अब हमारे फोकस में कृषि के बाद सबसे ज्यादा रोजगार देने वाले उद्योग-धंधे शामिल हैं.

मध्य प्रदेश में MSME की नई पॉलिसी जल्द, इन व्यापारियों को होगा फायदा
सांकेतिक तस्वीर.

भोपाल: मध्य प्रदेश में एमएसएमई (Ministry of Micro, Small and Medium Enterprises) की नई पॉलिसी को लेकर एमएसएमई मिनिस्टर ओमप्रकाश सकलेचा ने बड़ा बयान दिया है. उन्होंने कहा कि सीएम शिवराज सिंह से हरी झंडी मिलने के बाद जल्द ही एमएसएमई की नई पॉलिसी जारी कर दी जाएगी. नई पॉलिसी के आने से छोटे उद्योगों के व्यापारियों को फायदा होगा.

MP: कोरोना के चलते जनगणना का काम बंद, 2021 में आने वाले आंकड़े अब 2022 में आएंगे

एमएसएमई मिनिस्टर ने कहा कि अभी तक हमने किसान, श्रमिकों और छोटे व्यापारियों को कुछ न कुछ दिया है. लेकिन अब हमारे फोकस में कृषि के बाद सबसे ज्यादा रोजगार देने वाले उद्योग-धंधे शामिल हैं. इस बारे में हम छोटे उद्योग-धंधे चलाने वाले व्यापारियों से भी चर्चा कर चुके हैं. चर्चा के दौरान यह बात सामने निकलकर आई है कि उन्हें बिजली का चार्ज प्रति यूनिट 12 से 14 रुपए पड़ता है. अगर इस चार्ज को हटा दिया जाए तो उन्हें आधे दाम पर बिजली मिल सकती है.

एमएसएमई मिनिस्टर ओम प्रकाश सकलेचा ने कहा कि हम इस बारे में सकारात्मक तरीके से विचार कर रहे हैं. साथ ही हम ठेकेदारी प्रथा भी खत्म करने पर विचार कर रहे हैं, अगर ठेकेदारी प्रथा खत्म हो जाएगी तो छोटे उद्यमियों को 40 प्रतिशत की बचत होगी. इससे श्रमिक और उद्यमियों दोनों को फायदा होगा. 

संघ प्रमुख मोहन भागवत के भोपाल दौरे का दूसरा दिन आज, कार्यकर्ताओं से करेंगे संवाद

इसके अलावा मंत्री सकलेचा ने बताया कि आत्मनिर्भर भारत में एमएसएमई के तहत 20 प्रतिशत अतिरिक्त लोन की सुविधा देने पर विचार किया जा रहा है. उन्होंने कहा कि सरकार इस पॉलिसी के तहत बैंकों को गारंटी देगी, ताकि युवा भी खुद का छोटा उद्योग लगा सकें.

Watch Live TV-