close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

नक्सल खतरा : छत्तीसगढ़ में पहले चरण के चुनाव के लिए करीब 65,000 जवानों की तैनाती

बीजापुर और सुकमा जिलों में हाल ही में माओवादियों के दो हमलों में नौ सुरक्षाकर्मियों और डीडी न्यूज के एक कैमरामेन की मौत हो गई थी. 

नक्सल खतरा : छत्तीसगढ़ में पहले चरण के चुनाव के लिए करीब 65,000 जवानों की तैनाती
(प्रतीकात्मक फोटो)

नई दिल्ली: नक्सल प्रभावित छत्तीसगढ़ में विधानसभा चुनाव के पहले चरण के लिए केंद्रीय एवं राज्य पुलिस बलों के करीब 65,000 जवानों की तैनाती की जाएगी. अधिकारियों ने बुधवार को इसकी जानकारी दी.  90 सदस्यों वाली छत्तीसगढ़ विधानसभा के लिए चुनाव दो चरण में होंगे. पहले चरण के लिये मतदान 12 नवंबर को होगा वहीं दूसरे चरण के लिए मतदान 20 नवंबर को होना है .

बीजापुर और सुकमा जिलों में हाल ही में माओवादियों के दो हमलों में नौ सुरक्षाकर्मियों और डीडी न्यूज के एक कैमरामेन की मौत हो गई थी. इन घटनाओं के मद्देनजर सुरक्षा अधिकारियों ने पुलिस कर्मियों को “चुनावी प्रक्रिया संपन्न होने तक हाई अलर्ट पर रहने” का निर्देश दिया है.

कुछ दस्ते पहुंच चुके हैं रायपुर
अधिकारियों ने कहा कि सीआरपीएफ, बीएसएफ, आईटीबीपी, एसएसबी, सीआईएसएफ और आरपीएफ जैसे केंद्रीय बलों के और राज्य पुलिस बल के कुछ दस्ते रायपुर पहुंच चुके हैं. ये सभी इस हफ्ते तक उनके लिए निर्दिष्ट किए गए स्थानों और मतदान केंद्रों पर अपनी-अपनी जगह संभाल लेंगे.” 

एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया, 'राज्य में पहले चरण के चुनाव के लिए केंद्रीय एवं राज्य पुलिस बलों की करीब 650 कंपनियों को तैनात किया जाएगा. इसके अलावा छत्तीसगढ़ पुलिस के कर्मियों की भी तैनाती होगी.' राज्य पुलिस या केंद्रीय सशस्त्र पुलिस बल (सीएपीएफ) की एक कंपनी में करीब 100 कर्मी होते हैं. 

(इनपुट - भाषा)