close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

बस्तर में माओवादियों ने किया बंद का ऐलान, बैनर लगाकर दी चेतावनी

नक्सलियों गणतंत्र दिवस के मौके पर किसी तरह की अप्रिय घटना न हो, इसका ध्यान रखते हुए पुलिस ने नक्सलियों पर नकेल कसने के लिए सर्चिंग तेज कर दी है.

बस्तर में माओवादियों ने किया बंद का ऐलान, बैनर लगाकर दी चेतावनी
(बैनर देखकर ग्रामीणों में दहशत का माहौल) फाइल फोटो

बस्तरः गणतंत्र दिवस के मौके पर नक्सलियों ने 25 से 31 जनवरी तक भारत बंद का आह्वान किया है. नक्सलियों की दंडकारण्य स्पेशल जोनल कमेटी ने पर्चा जारी करते हुए केंद्र सरकार पर निशाना साधा है और मोदी सरकरार को पूंजीवादियों के इशारे पर काम करने का आरोप लगाया है. बता दें बस्तर के साथ ही नक्सलियों ने अंतागढ़, आमाबेड़ा, कांकेर और कामता मार्ग में भी बैनर लगाए हैं, जिससे स्थानीय लोगों में दहशत का माहौल है. वहीं नक्सलियों गणतंत्र दिवस के मौके पर किसी तरह की अप्रिय घटना न हो, इसका ध्यान रखते हुए पुलिस ने नक्सलियों पर नकेल कसने के लिए सर्चिंग तेज कर दी है.

छत्तीसगढ़ः एनजीआरआई में काम कर रहा था माओवादी, गिरफ्तार

वहीं जारी पोस्टर में नक्सलियों ने लिखा है कि 'प्रति क्रांतिकारी दमन योजना समाधान के खिलाफ 25 से 31 जनवरी 2019 तक भारत बंद को सफल बनावें. क्रांतिकारी आंदोलन के खात्मे के लिए शोषक सरकरों की अपनाई गई नीति और समान्तवाद, पूंजीपति, सम्राज्यवादियों के मुनाफे के लिए बढ़ें बांध और खदानों को बंद करो. जल, जंगल, जमीन को बचाएंगे. नवजनवादी क्रांति जिंदाबाद. भारत की कम्यूनिस्ट पार्टी.'

इसके साथ ही बैनर में नक्सलियों ने मोदी सरकार पर भी निशाना साधा है, जिसमें माओवादियों ने लिखा है कि 'मोदी सरकार जनविरोधी सरकार है.' इसके साथ ही बैनर में माओवादियों ने मोदी सरकार के नए भारत के सपने को भी नष्ट करने की बात कही है. बता दें नक्सलियों के बंद का गणतंत्र दिवस समारोह पर किसी तरह का असर न हो इसके लिए जगह-जगह फोर्स तैनात कर दी गई है. इसके साथ ही राज्य में यातायात पर भी विशेष ध्यान दिया जा रहा है. पुलिस अधीक्षक के.एल. ध्रुव का कहना है कि नक्सलियों के लगाए इस तरह के बैनर नक्सलियों की बौखलाहट को सामने ला रहा है. पुलिस इन नक्सलियों के खात्मे के लिए लगातार सर्चिंग कर रही है.

महाराष्ट्रः नक्सलियों ने 3 ग्रामीणों की हत्या कर शव को सड़क पर फेंका

बता दें इससे पहले 22 जनवरी को ही नक्सलियों ने गढ़चिरौली में 3 ग्रामीणों की हत्या कर दी थी. जिसके बाद ग्रामीणों के शव सड़क पर फेंकते हुए वहां अपना बैनर लगाया था, जिसमें नक्सलियों ने लिखा था कि अगर पुलिस के मुखबिर बनोगे तो यही हालत होगी. मरने वाले ग्रामीणों के नाम मालू डोग्गे मडावी, कन्ना रैनू मडावी और लालसु कुडयेटी है. ये सभी कसनासूर गांव के रहने वाले हैं.