टिकरी बॉर्डर पर युवती की मौत मामले में नया मोड़: पिता का आरोप- बच्ची के साथ रेप हुआ, आरोपियों का AAP के साथ संबंध!

युवती के पिता का आरोप है कि टिकरी बॉर्डर पर चल रहे किसान आंदोलन में उसके साथ रेप हुआ था.

टिकरी बॉर्डर पर युवती की मौत मामले में नया मोड़: पिता का आरोप- बच्ची के साथ रेप हुआ, आरोपियों का AAP के साथ संबंध!
रेप के खिलाफ धरने पर बैठा आरोपी अनूप चानौत (L) सीएम अरविंद केजरीवाल के साथ आरोपी अनूप चानौत (R)

नई दिल्ली: देश की राजधानी नई दिल्ली की सीमाओं पर 3 कृषि कानूनों के खिलाफ किसान लगातार प्रदर्शन कर रहे हैं. इसी बीच टिकरी बॉर्डर पर चल रहे आंदोलन से एक चौंकाने वाली खबर सामने आई है. यहां किसान आंदोलन के समर्थन में बंगाल से आई 26 वर्षीय महिला एक्टिविस्ट की 30 अप्रैल को कोरोना से मौत मामले में नया मोड़ आया है.

युवती के पिता का आरोप है कि टिकरी बॉर्डर पर चल रहे किसान आंदोलन में उसके साथ रेप हुआ था. इस मामले में पुलिस ने रविवार को किसान आंदोलन से जुड़े 6 लोगों के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया है. 

क्या है पूरा मामला 
जानकारी के मुताबिक युवती 11 अप्रैल को आरोपियों के साथ पश्चिम बंगाल से टिकरी प्रदर्शनस्थल पर आई थी. आरोप है कि दिल्ली आते वक्त ट्रेन में और किसान आंदोलन में हिस्सा लेने के दौरान उसके साथ रेप किया गया. वहीं, आंदोलन के दौरान ही युवती कोविड पॉजिटिव हो गई और 30 अप्रैल को संक्रमण कर चलते उसकी मौत हो गई. मौत के करीब 4 दिन पहले ही युवती को  बहादुरगढ़ के शिवम हॉस्पिटल में इलाज के लिए भर्ती कराया गया था. युवती ने पिता को फोन पर अपने साथ हुई आपबीती सुनाई थी.

 

6 लोगों के खिलाफ दर्ज हुआ मुकदमा 
बेटी की मौत के बाद पिता ने बहादुरगढ़ सिटी थाने में उसके साथ हुए यौन शोषण की शिकायत की है. पुलिस ने टिकरी बॉर्डर पर किसान सोशल आर्मी नाम से सोशल मीडिया पेज चलाने वाले अनूप और अनिल मलिक के अलावा 4 अन्य लोगों के खिलाफ आईपीसी की धारा 365, 342, 354, 376 और 120 बी के तहत केस दर्ज कर लिया है. जिन लोगों के खिलाफ कार्रवाई की गई है उनमें अनूप सिंह चानौत, अनिल मलिक, अंकुर सांगवान, जगदीश सिंह बराड़ के अलावा दो महिला आंदोलनकारी कविता आर्य और योगिता सुहाग का नाम शामिल है. 

रेप के आरोपियों का AAP के साथ संबंध
आपको बता दें कि आरोपी अनूप सिंह चानौत मूलतः हिसार का रहने वाला है. वह आम आदमी पार्टी का सक्रिय कार्यकर्ता रहा है. वहीं, दूसरा आरोपी अनिल मलिक दिल्ली का रहने वाला है. वह भी आम आदमी पार्टी का कार्यकर्ता है.  AAP सांसद सुनील गुप्ता ने खुद अनूप सिंह की पुष्टि की थी. हालांकि, उन्होंने अनिल मलिक की पुष्टि से इनकार कर दिया. 

रेप के खिलाफ धरने पर बैठा आरोपी अनूप चानौत (बायीं तरफ) सीएम अरविंद केजरीवाल के साथ आरोपी अनूप चानौत (दायीं तरफ)

जांच के लिए बनी SIT
मीडिया में खबरें चलने के बाद बीते शनिवार को टिकरी बॉर्डर पर संयुक्त मोर्चा की मीटिंग भी हुई. वहीं, बहादुरगढ़ पुलिस ने इस मामले की जांच के लिए डीएसपी की अगुवाई में तीन इंस्पेक्टर और साइबर सेल को मिलाकर SIT बनाई है. रविवार को इस प्रकरण पर टिकरी बॉर्डर पर प्रदर्शन कर रहे महिलाओं के समूह ने भी बयान जारी किया है.  जिसके मुताबिक दोनों आरोपी कभी भी संयुक्त किसान मोर्चा की टीम का हिस्सा नहीं थे. महिला आंदोलनकारियों का कहना है कि वे इस मामले में पीड़ित पिता के साथ हैं. साथ ही सरकार से मांग की है कि इस मामले की निष्पक्ष जांच कर दोषियों को सजा दी जाए. 

किसानों ने निकाली थी शव यात्रा 
युवती की कोरोना से मौत के बाद किसानों ने शव यात्रा भी निकाली थी. जबकि कोरोना संक्रमण से मौत के बाद एक निश्चित गाइडलाइन का पालन करते हुए अंतिम संस्‍कार किया जाता है. वहीं, पुलिस के सामने भी चुनौती है कि अंतिम संस्कार के बाद वह रेप के आरोप को कैसे साबित करेगी. यह भी कहा जा रहा कि युवती के साथ रेप और उसके कोरोना संक्रमित होने की जानकारी संयुक्त किसान मोर्चा के बड़े नेताओं को थी. लेकिन किसी ने इसका संज्ञान लेते हुए पुलिस में शिकायत नहीं की. एक कोरोना संक्रमित के धरना स्थल पर होने की बात छिपाई गई और आंदोलन चालू रखा गया.

ये भी पढ़ें; शादी के तुरंत बाद मायके चली गई दुल्हन, अब न फोन उठा रही और न रहने का पता बता रही

WATCH LIVE TV