पुराना 40 नया मिलेगा 80 के भाव; परत दर परत आपकी जेब हल्की करने आ रहा है नया प्याज

कई दुकानदारों के पास पुराना प्याज रखा है, जो इसे अभी भी 40 रुपये किलो के भाव से बेच रहे है. ऐसे में यदि अन्य दुकानदार नया प्याज 60 रुपये के भाव से मंडी से लेकर आते है तो यह प्याज इन्हें 70 या 80 रुपये किलो के भाव तक बेचना होगा.

पुराना 40 नया मिलेगा 80 के भाव; परत दर परत आपकी जेब हल्की करने आ रहा है नया प्याज

रतलाम/चन्द्रशेखर सोलंकीमंडी में लगातार प्याज की बंपर आवक हो रही है. इस कारण मंडी में जगह नहीं बची है और प्रशासन को ट्रैक्टर ट्रॉली की एंट्री बंद करना पड़ गई है. इससे दो किमी दूर सालाखेड़ी तक कतार लग गई. बार-बार ट्रैफिक जाम होने से विवाद की भी स्थिति बन रही है. वहीं छत्तीसगढ़ में प्याज की उपलब्धता एवं बाजार भाव की निगरानी के लिए सभी जिला कलेक्टरों को सरकार की ओर से निर्देश जारी कर दिए है.

नरसिंहपुर गैंगरेप: जिस पुलिस अफसर ने दिखाई थी लापरवाही,वो अब करेंगे महिलाओं की रक्षा

दरअसल प्याज के भाव में तेजी से बड़ी संख्या में किसान अपना प्याज लेकर मंडी पहुंच रहे है. इससे रोज की तुलना में प्याज की आवक बढ़ गई है. वहीं मंगलवार को प्याज के भाव अधिकतम 6139 रुपये क्विंटल रहे. रतलाम मंडी में रोजाना प्याज, सोयाबीन, डॉलर चना की औसतन 400 ट्रॉलियां आती है. जिससे किसानों के भारी संख्या में मंडी पहुंचने से आखिरी की ट्रॉलियों की नीलामी में समय लग रहा है.

प्याज ने बिगाड़ा बजट
दूसरी और रिटेल सब्जी मंडी में हालात यह कि प्याज नहीं पहुंचा है और जो है वह पुराने प्याज है. बता दें कि कई दुकानदारों के पास पुराना प्याज रखा है. जो इसे अभी भी 40 रुपये किलो के भाव से बेच रहे है. ऐसे में यदि अन्य दुकानदार नया प्याज 60 रुपये के भाव से मंडी से लेकर आते है तो यह प्याज इन्हें 70 या 80 रुपये किलो के भाव तक बेचना होगा. ऐसे में महंगे प्याज कोई नहीं खरीदेगा. सब्जी दुकानदारों का कहना है कि अभी हम जो पहले का सस्ता प्याज रखा है वो ही बेच रहे है. यदि प्याज के भाव मंडी कम हुए या फिर बाजार में किसी और के पास पुराने प्याज नहीं रहे तब नए दाम में मंडी से प्याज लाना ही पड़ेगा. 

नया प्याज मिलेगा 80 रुपये किलो
इधर इस प्याज की मारा मारी में ग्राहकों की फजीहत हो गयी है. पुराना प्याज जो अच्छी क्वालिटी का नहीं है. ऐसे में ग्राहक भी नए प्याज के इंतज़ार में है. लेकिन यदि प्याज बढ़े भाव में मिले तो इससे भी ग्राहकों के बजट पर असर पड़ेगा. त्यौहार का समय है और ऐसे में रोजमर्रा किचन में काम आने वाला प्याज न तो खराब कोई लेना चहेगा और न ही 80 रुपये किलो तक महंगा. फिलहाल दो या तीन दिन और बाजार में पुराना प्याज मिल सकता है लेकिन इसके बाद रिटेल दुकानदारों को भी नया प्याज लाना ही होगा और यदि दाम ऐसे ही रहे तो ,बाजार में प्याज महंगे प्याज के साथ आम नागरिकों को जेब पर भारी पड़ ही जायेगा.

दुर्घटना का खतरा 
किसानों का कहना है कि वे 24 घंटे तक कतारों में फोरलेन पर खड़े है. ऐसे में दुर्घटना का खतरा भी बढ़ गया है, मंडी में भी कोई व्यवस्था नहीं है. यदि प्याज की ट्रैक्टर ट्रॉलियों को मंडी प्रशासन व्यवस्थित लगता है तो बाहर उतनी लंबी कतार फोरलेन पर नहीं रहेगी, वही मंडी के पीछे और भी जगह है जहां ट्रॉलियां खड़ी हो सकती है. जिससे फोरलेन पर किसानों को दुर्घटना का खतरा नहीं रहेगा.

हाथ में पिस्तौल, मेरे पैसे लौटाओ- बोलते हुए मंत्री बिसाहूलाल का नौकरों से पैसे मांगते वीडियो वायरल

बारिश के वजह से ट्रॉली खड़ी नहीं हो सकती
इधर मंडी प्रशासन का कहना है कि मंडी में जितनी ट्रॉलियों को लाने की व्यवस्था है उतनी लायी जा रही है इसके अलावा सभी को मंडी से बाहर रोक गया है मंडी के पास अलग से अधिकृत जगह है लेकिन उसकी परमिशन नहीं मिली है वही बारिश के कारण वहां ट्रॉलियां खड़ी नहीं की जा सकती है.

WATCH LIVE TV