पाकिस्तान ने माना- कराची में रहता है हिन्दुस्तान का मोस्ट वांटेड दाऊद इब्राहिम, तीन पते भी बताए

पाकिस्तान अपनी इस चाल में खुद ही फंस गया है. क्योंकि जिन संगठनों और आतंकियों पर पाकिस्तान ने प्रतिबंध लगाए हैं उनमें भारत का मोस्ट वांटेड और 1992 मुंबई ब्लास्ट का मास्टर माइंड दाऊद इब्राहिम का नाम भी शामिल है.

पाकिस्तान ने माना- कराची में रहता है हिन्दुस्तान का मोस्ट वांटेड दाऊद इब्राहिम, तीन पते भी बताए
दाउद इब्राहिम. (File Photo)

नोएडा: पाकिस्तान ने अपनी जमीन से संचालित होने वाले आतंकवादी संगठनों और उनके आकाओं पर कार्रवाई करने का दावा किया है. अपनी इस चाल में पाकिस्तान खुद ही फंस गया है. क्योंकि जिन संगठनों और आतंकियों पर पाकिस्तान ने प्रतिबंध लगाए हैं उनमें 1992 मुंबई ब्लास्ट का मास्टर माइंड और भारत का मोस्ट वांटेड  दाऊद इब्राहिम का नाम भी शामिल है. इस तरह पाकिस्तान ने स्वीकार कर लिया है कि दाऊद इब्राहिम उसकी जमीन पर मौजूद है. भारत काफी समय से दावा करता रहा है कि दाउद कराची में मौजूद है.

पाकिस्तान ने दाऊद के कराची में तीन ठिकानों के पते जारी किए हैं

1. व्हाइट हाउस, सऊदी मस्जिद के नजदीक, क्लिफ्टन रोड, कराची.
2. हाउस नंबर 37, 30 स्ट्रीट, डिफेंस हाउसिंग अथॉरिटी, कराची.
3. पैलेसियल बंगला, हिली एरिया, नूराबाद, कराची.

UNSC को सौंपे दस्तावेज में पाकिस्तान ने दाऊद के कराची में होने की बात मानी
संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद (UNSC) की ओर से 88 आतंकी ग्रुप लीडर्स की एक लिस्ट जारी की गई है, जिसमें दाऊद इब्राहिम और उसके सहयोगियों के नाम शामिल हैं. संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद को यह लिस्ट पाकिस्तानी विदेश मंत्रालय ने सौंपी है, जिसमें कहा गया है कि इमरान खान सरकार ने दाऊद इब्राहिम की सभी चल और अचल संपत्तियों को जब्त करने और उनके बैंक खातों को फ्रीज करने का आदेश दिया है. इस लिस्ट में हाफिज सईद और मसूद अजहर जैसे आतंकियों और उनके संगठनों के नाम भी हैं.

दिल्ली में ISIS आतंकी अबू यूसुफ की गिरफ्तारी के बाद UP में हाई अलर्ट, IB से मिला है इनपुट

पाकिस्तान को आतंकी संगठनों और उसके आकाओं पर क्यों करनी पड़ी कार्रवाई?
दरअसल FATF ने जून 2018 में पाकिस्तान को ‘ग्रे लिस्ट’ में डालते हुए कहा था कि अगर उसे प्रतिबंध से बचना है तो 2019 के अंत तक वह अपनी जमीन से संचालित आतंकी संगठनों और उनके सरगनाओं पर कार्रवाई की कार्ययोजना लागू करे. कोविड-19 महामारी के बाद FATF ने यह समय सीमा बढ़ा दी थी. पाकिस्तान ने बीते 18 अगस्त को दो अधिसूचनाएं जारी करते हुए 26/11 मुंबई हमले के साजिशकर्ता और जमात-उद-दावा चीफ हाफिज सईद, जैश-ए-मोहम्मद और उसके सरगना मौलाना मसूद अजहर और अंडरवर्ल्ड डॉन दाउद इब्राहिम पर प्रतिबंधों की घोषणा की.

मुंबई 1993 सिलसिलेवार बम ब्लास्ट का मास्टरमाइंड है दाऊद इब्राहिम
भारत ने पाकिस्तान को कई बार डोजियर सौंप दाऊद इब्राहिम के कराची में होने की बात कह चुका है. पाकिस्तान ने दाऊद को करीब तीन दशक से शरण दे रखी है, लेकिन कभी स्वीकार नहीं किया. भारत सरकार की ओर से पाकिस्तान को सौंपे गए डोजियर में दाऊद के कराची के पते का उल्लेख भी है. देश की आर्थिक राजधानी मुंबई में 1993 में हुए सिलसिलेवार बम धमाकों का मुख्य साजिशकर्ता दाऊद इब्राहिम ही है. इस आतंकी हमले में 257 लोगों की मौत हुई थी, जबकि 700 से ज्यादा घायल हुए थे. भारत सरकार ने 2003 में अमेरिका के साथ मिलकर दाऊद को ग्लोबल टेररिस्ट (वैश्विक आतंकवादी) घोषित किया था. संयुक्त राष्ट्र और इंटरपोल ने दाऊद इब्राहिम को एशिया के सबसे बड़े ड्रग्स तस्करों में से एक माना है. उसके संपर्क आतंकी संगठनों के साथ भी हैं.

WATCH LIVE TV