close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

जेल में बैठे कैदी कर रहे SSP के नाम पर पेट्रोल पंप मालिकों से अवैध वसूली, अब तक करोड़ों की ठगी

जेल में बंद कुछ कैदियों ने एडिशनल एसपी बनकर पन्ना जिले के कई पेट्रोल पंप मालिको को ठगी का शिकार बनाने का काम किया. इस वारदात को अंजाम देने में इस शातिर आरोपी ने पन्ना पुलिस का ही सहारा लिया. 

जेल में बैठे कैदी कर रहे SSP के नाम पर पेट्रोल पंप मालिकों से अवैध वसूली, अब तक करोड़ों की ठगी
ल में बंद कुछ कैदियों ने एडिशनल एसपी बनकर पन्ना जिले के कई पेट्रोल पंप मालिको को ठगी का शिकार बनाने का काम किया.

पन्ना(पीयूष शुक्ला)  : जेल में रहने वाले कैदी मोबाइल फोन और इन्टरनेट का उपयोग कर रहे है. खास बात ये है कि मोबाइल और इंटरनेट का इस्तेमाल घर वालों से बात करने या परिचितों तक अपना हाल पहुंचाने के लिए नहीं बल्कि साइबर क्राइम को करने के लिए किया जा रहा है. मध्यप्रदेश के पन्ना में कुछ ऐसा मामले सामने आया है, जिसने हर किसी के होश उड़ा दिए हैं, खासकर जेल की चौकीदारी और शहर की पहरेदारी करने वाली पुलिस के. 

हेड कॉन्स्टेबल को फोन कर कहा...
दरसअल, जेल में बंद कुछ कैदियों ने एडिशनल एसपी बनकर पन्ना जिले के कई पेट्रोल पंप मालिको को ठगी का शिकार बनाने का काम किया. इस वारदात को अंजाम देने में इस शातिर आरोपी ने पन्ना पुलिस का ही सहारा लिया. वारदात 29 मई 2019 की है. पन्ना जिले के अजयगढ थाने में पदस्थ एक हेड कॉन्स्टेबल के पास फोन आया कि मैं पन्ना एडिशनल एसपी बी के एस परिहार बोल रहा हूं, मेरी बात पेट्रोल पंप मालिक से करवाओ. 

देखिए LIVE TV

प्लानिंग, सीरीज और वारदात को अंजाम
मुंशी जी ने एक आरक्षक को भेजकर पंम्प मालिक संजय सुल्लेरे से बात करवा दी. फोन पर नकली एडिशनल एसपी ने कहा कि मैं आपके खाते में 61 हजार रुपए भेज रहा हूं इसका डीजल का बिल बना देना. पंम्प वाले ने हामी भर ली. कुछ देर बाद पम्प मालिक के मोबाइल पर 61 हजार क्रेडिट होने का मैसेज आ गया. 10 मिनट बाद नकली एडिशनल एसपी का पम्प मालिक के पास पुनः फोन आया कि उनको पैसो की जरूरत है. इन 2 खातों में 25-25 हजार रुपए जमा कर दो. पंम्प मालिक ने जमा करवा दिए . फिर बताने के लिए उस मोबाइल पर फ़ोन लगाया तो वह बन्द आ रहा था.

पन्ना के हर शहर में किए गए थे फोन
पम्प मालिक को शंका हुई पन्ना एडिशनल से सम्पर्क किया गया तो पता चला कि ऐसे फोन पन्ना के हर थाने में किए गए थे. पुलिस ने पम्प मालिक की शिकायत पर मामला दर्ज किया और जांच शुरू की. जांच में बहुत ही चौकाने वाली बात सामने आई इस पूरी वारदात का मास्टरमाइंड राजस्थान के करौली जेल में सजा काट रहा आरोपी प्रवीण मीणा निकला. जिसने जेल में रहकर इस ठगी की वारदात को अंजाम दिया.

दो राज्यों की पुलिस ने एक-दूसरे पर लगाए गंभीर आरोप
इस मामले में राजस्थान पुलिस पर गंभीर आरोप लगाए गये है. मध्यप्रदेश पुलिस ने साफ तौर पर कहा कि जेल के अंदर रहकर राजस्थान के दौसा जिले के निवासी इस आरोपी ने करौली जेल में रहकर इस वारदात को अंजाम दिया मप्र पुलिस का आरोप है कि राजस्थान के करौली जेल में इस तरह के काम होते रहते है. यहां बन्द कैदी मोबाइल का उपयोग करते है और लोगों को अपनी ठगी का शिकार बनाते है. पुलिस ने बताया कि आरोपी ने ठगी के 50 हजार में से 35 हजार रुपए अपनी पत्नी के खाते में जेल से ही ट्रांसफर कर दिए और 15 हजार की पार्टी जेल के अंदर मनाई गई.