विद्युकर्मी का पुलिस ने काटा चालान, नियम बता लाइनमैन ने चौकी का कनेक्शन ही काट दिया

पन्ना जिले के मोहन्द्रा स्थित पैता तिगड्डा पर बीती शाम पुलिस वाहनों की चेकिंग की जा रही थी. तभी विधुत स्टेशन से अपने तय कार्यक्रम के अनुसार विधुत व्यवस्था की देख-रेख के लिए वहां से लाइनमैन बृजभान चौहान निकल रहे थे. उनका पुलिस वालों ने चालान काट दिया.

विद्युकर्मी का पुलिस ने काटा चालान, नियम बता लाइनमैन ने चौकी का कनेक्शन ही काट दिया

पीयूष शुक्ला/पन्ना: पन्ना जिले के मोहन्द्रा स्थित पैता तिगड्डा पर बीती शाम पुलिस वाहनों की चेकिंग की जा रही थी. तभी विधुत स्टेशन से अपने तय कार्यक्रम के अनुसार विधुत व्यवस्था की देख-रेख के लिए वहां से लाइनमैन बृजभान चौहान निकल रहे थे. उनका पुलिस वालों ने चालान काट दिया. जिसके बाद उन्होंने नियमों का हवाला देते हुए चौकी की ही लाइन काट दी. 

दरअसल, मोहन्द्रा पुलिसकर्मियों ने लाइनमैन को रोका और हेलमेट न पहनने के नाम चालान काटने की बात कही. लाइनमैन ने अपना परिचय दिया. उन्होंने कहा कि वह बिजली विभाग के कर्मचारी हैं और स्टेशन की बिजली व्यवस्था के उपरांत स्टेशन से लौट रहे हैं. लोकल गांव की बिजली देख-रेख के लिए जा रहा हैं. आरोप है कि बातचीत के दौरान पुलिसकर्मी द्वारा चालान कटवाने का दवाब बना उक्त लाइनमैन को मारा-पीटा गया. पुलिस के दुर्व्यवहार से आहत लाइनमैन बृजभान द्वारा वर्षों से बकाया पड़ी पुलिस चौकी मोहन्द्रा की बिजली बिल की राशि लगभग 40 हजार जमा न करने एवज विधुत कनेक्शन काट दिया गया. साथ ही बिजली जोड़ने की मनाही करने पर काफी देर से बैठाए लाइनमैन को स्थानीय पुलिसकर्मियों द्वारा   कार से आनन-फानन में पवई ले जाया गया. जहां पर पुलिस द्वारा अपने बचाव पक्ष में गुपचुप तरीके से जांच की बात कही जा रही है.

करीब घंटों बीत जाने के बाद बृजभान लाइनमैन को वापस पवई से मोहन्द्रा चौकी लाया गया. जहां फिर से पुलिस ने उनपर चौकी की लाइन फिर से चालू करने का दबाव बनाया. पुलिस विभाग लाइनमैन के खिलाफ कार्रवाई करने की भी बात कह रहा है. वहीं दूसरी ओर पुलिस द्वारा कर्मचारी के साथ दुर्व्यवहार को लेकर वरिष्ठ अधिकारियों से हस्तक्षेप की मांग कर रहे है. बिजली विभाग के कर्मचारियों का कहना है कि विद्युत व्यवस्था के लिए हम लोग दिन रात मेहनत करते हैं. बावजूद हम लोगों के साथ इस प्रकार का व्यवहार मानसिक पीड़ा देने वाला है.

बृजभान सिंह ने कहा कि मोहन्द्रा चौकी की बकाया राशि जमा की जाए एवं चौकी प्रभारी सहित मारपीट करनेवाले पुलिसकर्मियों पर कार्रवाई की जाए. वहीं पुलिस विभाग के एसडीओपी रक्षपाल यादव का कहना है कि प्रशिक्षु एसडीओपी गौतम वाहन चेकिंग कर रहे थे. उसी दौरान लाइनमैन बृजभान सिंह वहां से गुजरे जो हेलमेट नहीं लगाई हुए थे साथ ही उन्होंने शराब पी रखी हुई थी. जिसके बाद डॉक्टरी मुआयना करके लाइनमैन का शराब पीकर वाहन चलने का चलाने का चालान काटा गया है. लाइनमैन के द्वारा बिजली काटने का काम गलत किया गया है. सरकारी विभागों की बिजली इस प्रकार नहीं काटी जानी चाहिए. एसडीओपी ने बिजली का बिल बकाया होने की बात मानी है.