MPPSC परीक्षा स्थगित कराने के लिए सड़कों पर उतरे प्रतिभागी, सरकार और कोर्ट से लगाई ये गुहार

एमपी पीएससी में आरक्षण को लेकर 26 मार्च को फैसला आना है और 21 मार्च को MPPSC मेन्स की परीक्षा होनी है. इनकी मांग कै कि कोर्ट का फैसला आने से पहले परीक्षा ना की जाए. 

 MPPSC परीक्षा स्थगित कराने के लिए सड़कों पर उतरे प्रतिभागी, सरकार और कोर्ट से लगाई ये गुहार
धरने पर बैठे mppsc के प्रतिभागी

जबलपुर: MPPSC के प्रतिभागियों ने आज तपती धूप में बीच सड़क पर बैठकर धरना प्रदर्शन किया. उनकी मांग है कि एमपी पीएससी की मेन्स की परीक्षा स्थगित की जाए.  हाईकोर्ट का आदेश आने तक परीक्षा की डेट आगे बढ़ाने के लिए प्रदेश सरकार, हाईकोर्ट और सुप्रीम कोर्ट के नाम कलेक्टर को ज्ञापन भी सौंपा.

ये भी पढ़ें-CM शिवराज ने किया ऐलान- इन दिन मिलेंगे फसल नुकसान और किसान कल्याण योजना के पैसे

एमपी पीएससी में आरक्षण को लेकर 26 मार्च को फैसला आना है और 21 मार्च को MPPSC मेन्स की परीक्षा होनी है. इनकी मांग कै कि कोर्ट का फैसला आने से पहले परीक्षा ना की जाए. 

जानकारी के मुताबिक ये लोग ने कलेक्टर कार्यालय का घेराव करने का प्रयास कर रहे थे. लेकिन धारा 144 लागू होने के कारण इन्हें घंटाघर पर ही रोक लिया गया.जिसके बाद वह सड़क पर ही बैठ गए और विरोध प्रदर्शन करने लगे. 

ये भी पढ़ें-MY हॉस्पिटल का मुर्दाघर बना अय्याशी का अड्डा, शव रखने पहुंचे लोग तो कमरे को देख उड़े होश
 
डिप्टी कलेक्टर अनुराग तिवारी ने बताया कि इन प्रतिभागियों ने सरकार, हाइकोर्ट और सुप्रीम कोर्ट से गुहार लगाई है कि मध्यप्रदेश हाइकोर्ट के आदेश आने तक परीक्षा की डेट बढ़ाई जाए. क्योंकि यदि कोर्ट के निर्णय के पहले परीक्षा कराई जाएगी तो भविष्य में नियुक्ति से जुड़ी कई तरह की समस्याएं खड़ी हो सकती हैं. साथ ही उनकी मांग है कि कोरोना को देखते हुए वर्तमान हालातो में प्रदेश की अन्य भर्ती परीक्षा की तरह इसे भी स्थगित किया जाना चाहिए. 

Watch LIVE TV-