close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

मंत्री जीतू पटवारी बोले- बयान पर नहीं मांगी है माफी, पटवारियों ने फिर शुरू की हड़ताल

मंत्री जीतू पटवारी के पटवारियों को भ्रष्ट बताने वाले बयान को लेकर पटवारी हड़ताल पर चले गए थे.

मंत्री जीतू पटवारी बोले- बयान पर नहीं मांगी है माफी, पटवारियों ने फिर शुरू की हड़ताल
मंत्री जीतू पटवारी ने कहा कि उन्होंने अपने बयान के लिए कभी माफी नहीं मांगी.

विवेक पटैया/भोपाल: मध्य प्रदेश के पटवारी एक बार फिर मंत्री जीतू पटवारी के बयान से नाराज होकर हड़ताल पर चले गए हैं. अब इस पर मंत्री जीतू पटवारी की सफाई सामने आई है. जीतू पटवारी का कहना है कि मेरी पटवारी परिवार को ठेस पहुंचाने की भावना नही थी. इसलिए मैंने उस वक्त खेद भी व्यक्त किया था. उन्होंने कहा कि मेरा वह वक्तव्य इंदौर ब्लाक की राजस्व सम्बंधी शिकायतों को लेकर था. मैंने उस वक्त ट्वीट करके खेद भी व्यक्त किया था. आज भी मेरे वक्तव्य की मूलभावना यह है कि आपने जो निर्णय लिया है, इसलिए आप साधुवाद के पात्र है. साथ ही मेरे नाम के साथ भी पटवारी जुड़ा है तो आप लोगो का सम्मान रखना और सम्मान बढ़ाना मेरा दायित्व है. आप लोगों का और मेरा एक ही लक्ष्य है किसानों को लाभ पहुंचाना. 

जीतू पटवारी ने कहा मीडिया में दोपहर से जो बातें आ रही हैं, वह तोड़ मरोड़कर आ रही हैं. मेरा भाव आप सभी पटवारी भाइयों को धन्यवाद देना था और यह बताना था कि मेरी पहले भी आप के खिलाफ कोई ऐसी भावना नही थी. चूंकि हर क्षेत्र में 10 फीसदी लोग अपने दायित्व का निर्वहन सही तरीके से नही करते हैं. वो कोई भी क्षेत्र हो इसे नकारा भी नही जा सकता. मेरी परेशानी के संबंध में बात थी, हम सबका दायित्व था कि हम सब इसको सुधारें. जीतू पटवारी ने कहा हम सभी परिवार के लोग एक अच्छा तंत्र मिलकर चलाये, मेरी भावना हमेशा आपका सम्मान बढ़ाने की है.

इंदौर में आज दिए जीतू पटवारी के बयान से फिर नाराज हो गए पटवारी
गौरतलब है कि हड़ताल खत्म होने के कुछ देर बाद जब इंदौर में पत्रकारों ने मंत्री जीतू पटवारी से इसको लेकर सवाल पूछा था तो उनका कहना था कि उन्होंने कभी माफी नहीं मांगी. वो अपनी जगह सही थे. उन्होंने कभी पटवारियों खिलाफ बयान नहीं दिया. वो सिर्फ रिश्वतखोरी की बात कर रहे थे, नाकि किसी को ठेस पहुंचाने की. इसी बयान के बाद पटवारी संघ फिर से नाराज हो गया और हड़ताल पर जाने का एक बार फिर ऐलान कर दिया है.

सुबह राजस्व मंत्री के आश्वासन के बाद हड़ताल वापस ले चुके थे पटवारी
सुबह पटवारियों ने चार दिन बाद अपनी हड़ताल राजस्व मंत्री गोविंद सिंह राजपूत से मुलाकात के बाद खत्म करने का फैसला लिया था. हड़ताल खत्म होने के बाद गोविंद सिंह ने कहा कि पटवारी संघ ने इस बात को समझा कि प्रदेश में अतिवृष्टि हुई है, ऐसे में सरकार के साथ ही इस आपदा में पटवारी भी लोगों के साथ खड़े है. हड़ताल खत्म करने के बाद पटवारी संघ का कहना था कि किसानों की स्थिति काफी खराब है. किसान फसल खराब होने से परेशान है ऐसे में हमें सर्वे करना है. उस वक्त पटवारी संघ ने यह भी कहा था कि अपने बयान को लेकर जीतू पटवारी खेद व्यक्त कर चुके हैं. इसलिए हम हड़ताल वापस ले रहे हैं. 

बता दें कि मंत्री जीतू पटवारी के पटवारियों को भ्रष्ट बताने वाले बयान को लेकर पटवारी हड़ताल पर चले गए थे. लेकिन पटवारियों ने हड़ताल के बीच में सरकार से वेतनमान भी बढ़ाने की मांग कर दी, क्योंकि कांग्रेस ने अपने वचन पत्र में कहा था कि सरकार में आने पर पटवारियों का वेतनमान बढ़ाया जायेगा. वेतनमान बढ़ाने की मांग पर राजस्व मंत्री गोविंद सिंह का कहना है कि मुख्यमंत्री कमलनाथ को इसे लेकर एक पत्र भेजा गई है. उनकी तरफ से आश्वासन मिला है कि मामले में जल्द निर्णय लिया जाएगा. इस आश्वासन के बाद ही पटवारियों ने हड़ताल खत्म करने का फैसला लिया था.